Home / संसार / अब तक 1 लाख 65 हजार मौतें: न्यूजीलैंड में लॉकडाउन 5 दिन और बढ़ा; इजराइल में सख्त प्रतिबंधों को लेकर नेतन्याहू के खिलाफ प्रदर्शन

अब तक 1 लाख 65 हजार मौतें: न्यूजीलैंड में लॉकडाउन 5 दिन और बढ़ा; इजराइल में सख्त प्रतिबंधों को लेकर नेतन्याहू के खिलाफ प्रदर्शन

वॉशिंगटन. दुनिया में कोरोनावायरस से अब तक 24 लाख 6 हजार 868 लोग संक्रमित हैं। एक लाख 65 हजार 56 की मौत हो चुकी है। वहीं, छह लाख 17 हजार चार ठीक भी हुए हैं। उधर, न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने देश में लॉकडाउन पाांच दिन और बढ़ा दिया है। लॉकडाउन बुधवार को खत्म होने वाला था, लेकिन अब यह सोमवार तक रहेगा। उधर, इजराइल में कोरोना को लेकर लगे सख्त प्रतिबंधों को लेकर लोगों ने रविवार को राष्ट्रपति बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ प्रदर्शन किया।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देश कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 7 लाख 63 हजार 832 40 हजार 553 71 हजार 003
स्पेन 1 लाख 98 हजार 674 20 हजार 453 77 हजार 357
इटली 1 लाख 78 हजार 972 23 हजार 660 47 हजार 055
फ्रांस 1 लाख 52 हजार 894 19 हजार 718 36 हजार 578
जर्मनी 1 लाख 45 हजार 742 4 हजार 642 88 हजार
ब्रिटेन 1 लाख 20 हजार 067 16 हजार 060 उपलब्ध नहीं
तुर्की 86 हजार 306 2 हजार 17 11 हजार 976
चीन 82 हजार 747 4 हजार 632 77 हजार 084
ईरान 82 हजार 211 5 हजार 118 57 हजार 23
रूस 42 हजार 853 361 3 हजार 291

दुनियाभर में 24 घंटे में 81 हजार से ज्यादा मामलों की पुष्टि: डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने रविवार को घोषणा की कि दुनियाभर में 24 घंटे में 81 हजार 153 मामलों की पुष्टि हुई है। साथ ही 6,463 लोग मारे गए हैं। शनिवार की तुलना में रविवार को कम केस मिले। पिछले दिनों के मुकाबले चार हजार कम मरीज मिले और 247 कम मौतें दर्ज की गई। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, यूरोप में 11 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। वहीं यहां मौतों का आंकड़ा भी एक लाख से ज्यादा हो गया है। एक दिन पहले डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस एडहॉनम गेब्रेयेसियस ने जी20 के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने दुनिया के बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देशों को कोरोना से संघर्ष कर रहे गरीब देशों की मदद करने की अपील की।

अमेरिका: 24 घंटे में 1,997 लोगों की जान गई

अमेरिका में 24 घंटे में 1,997 लोगों की जान गई है। इसके साथ ही यहां मौतों का आंकड़ा 41 हजार के पार हो गया है। यहां अब तक संक्रमण के सात लाख 63 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। उधर, न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू क्यूमो ने कहा कि यहां 24 घंटे में 507 लोगों की मौत हुई है। एक दिन पहले यहां 778 जान गई थी। राज्य में अब तक 18 हजार 298 लोगों की मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में भी मरीजों की संख्या कम हो रही है। अगर डेटा ऐसा ही रहा और संक्रमण के मामलों में कमी आती रही तो कहा जा सकता है कि स्थिति पहले से बेहतर हो रही है।

  • राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने रविवार को कहा कि देश में अब तक 41.8 लाख नागरिकों का टेस्ट किया जा चुका है। यह आंकड़ा किसी भी देश से ज्यादा है।
  • बीबीसी के मुताबिक, अमेरिका में सोमवार को कच्चे तेल की कीमत 15 डॉलर प्रति बैरल से नीचे गिर गई। दो दशक में यह कच्चे तेल की कीमतों में सबस बड़ी गिरावट है। इसकी वजह तेल की मांग कम होना है। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट में भी तेल के दाम में 4.1% की गिरावट देखी गई।
  • सोमवार को टेक्सास और वर्मोंट जैसे राज्यों में कुछ बिजनेस खोले जा सकते हैं। हालांकि, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाता रहेगा।
  • क्यूमो ने कहा- अमेरिका में न्यूयॉर्क सबसे ज्यादा प्रभावित। महामारी का प्रकोप यहां कम हुआ है, लेकिन अभी भी सावधानी बरतनी होगी। अभी केवल आधा रास्ता ही तय हुआ है। संक्रमण न कम हुआ है और न ही बढ़ रहा है।
  • न्यूयॉर्क के बाद सबसे ज्यादा प्रभावित न्यूजर्सी में 4202, मिशिगन में 2391 और मैसाचुसेट्स में 1706 लोगों की मौत हो चुकी है। केवल न्यूयॉर्क में दो लाख 47 हजार 215 लोग संक्रमित हैं।

अमेरिका: कैलिफोर्निया में राष्ट्रपति ट्रम्प के कार्ड बोर्ड के साथ स्टे-ऐट-होम ऑर्डर के खिलाफ प्रदर्शन करते लोग।

ब्रिटेन: ब्लड प्लाज्मा से इलाज का ट्रायल शुरू होगा
बीबीसी के मुताबिक, ब्रिटेन में महामारी के इलाज के लिए ठीक हुए मरीजों के ब्लड प्लाज्मा से मरीजों का इलाज किया जाएगा। नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) के ब्लड ट्रांसप्लांट विभाग ने ठीक हुए मरीजों को ब्लड डोनेट करने के लिए कहा है। ऐसी उम्मीद है कि ठीक हुए लोगों में ऐसी एंटीबॉडी विकसित हो जाती है जो इस महामारी से लड़ने में मदद कर सकती है। ब्रिटेन में एब तक 16 हजार लोगों की जान जा चुकी है, जबकि एक लाख 20 हजार से ज्यादा संक्रमित हैं।

ब्राजील: लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन

ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो ने रविवार को ब्रासीलिया में लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों का मनोबल बढ़ाया। उन्हें संबोधित करते हुए देशभर के गवर्नरों द्वारा लगाए गए बिजनेस शटडाउन और क्वारैंटाइन गाइडलाइन को खत्म करने की मांग की। इस दौरान उन्होंने मिलिट्री रूल लाने और सुप्रीम कोर्ट को बंद करने की भी मांग की। सरकार में शामिल कई नेता बोलसोनारो के इस कदम की आलोचना कर रहे हैं। उनका कहना है कि महामारी के प्रसार को रोकने के लिए प्रतिबंध लगाना जरूरी है। बोल्सोनारो ने कुछ दिनों पहले लॉकडाउन का समर्थन करने के लिए अपने ही स्वास्थ्य मंत्री हो हटा दिया था। न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, ब्राजील में रविवार तक 38 हजार 654 संक्रमित मिले, जबकि 2,462 लोगों की मौत हो चुकी है।

ब्राजील: लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों का समर्थन करते राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो।

इजराइल: प्रधानमंत्री नेतन्याहू के विरोध में रैली
जकार्ता पोस्ट के मुताबिक, मास्क पहनकर, दो गज की दूरी बनाकर और हाथों में काला झंडा लेकर रविवार को हजारों इजराइलियों ने देश में लगे सख्त प्रतिबंधों को लेकर प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी एक-दूसरे से दूरी बनाकर और मास्क पहनकर प्रदर्शन कर सकते हैं। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने ‘सेव द डेमोक्रेसी’ के बैनर तले गैंट्ज की ब्लू एंड व्हाइट पार्टी से भ्रष्टाचार के आरोपों वाले प्रमुख के नेतृत्व वाले गठबंधन में शामिल नहीं होने का आह्वान किया। नेतन्याहू भ्रष्टाचार के तीन मामलों में आरोपी हैं। हालांकि, वे इससे इनकार करते रहे हैं। देश में एक साल में तीन चुनाव हो चुके हैं, इसके बाद भी सरकार नहीं बन पाई है। वे गठबंधन सरकार बनाने के लिए अपने प्रतिद्वंद्वी बेनी गैंट्ज के साथ सत्ता-साझेदारी के सौदे पर बातचीत कर रहे हैं। देश में अब तक संक्रमण के 13 हजार 491 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 172 लोगों की मौत हो चुकी है।

सिंगापुर: रविवार को 596 केस मिले
सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में रविवार को 596 नए मामले मिले। इसके साथ ही यहां संक्रमण का कुल आंकड़ा 8,014 हो गया। साथ ही यहां अब तक 11 लोगों की मौत हो गई है। नए केस में 544 प्रवासी मजदूरों के हैं।

सिंगापुर: कंस्ट्रक्शन साइट पर बने डोरमेट्री में रहने वाले प्रवासी मजदूर।

न्यूजीलैंड: अब तक 12 की मौत

प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने कहा कि हमने बाकि देशों की तुलना में बेहतर काम किया है। न्यूजीलैंड ने संक्रमण पर काबू पा लिया है। हम उन देशों में शामिल हो सकते हैं, जो ऐसे माहौल में भी कुछ काम कर पाए। उन्होंने कहा कि 28 अप्रैल से लॉकडाउन में थोड़ी ढील दी जाएगी। धीरे-धीरे दुकानें खुलेंगी। हालांकि, इस दौरान भी सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहेगी। स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि देश में कम्युनिटी ट्रांशमिशन नहीं हो रहा है। यहां अब तक 1440 संक्रमित हैं, जबकि 12 लोगों की मौत हो चुकी है। प्रधानमंत्री ने न्यूजीलैंड के लोगों की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे वायरस के प्रसार पर अंकुश लगाने के चीजों के प्रति संवेदनशील नहीं हो सकती।

न्यूजीलैंड: क्राइस्टचर्च में सुपरमार्कट से जरूरी सामान खरीदने आए 76 साल के बुजुर्ग ब्रायन ग्रीन। यहां लॉकडाउन सोमवार तक बढ़ा दिया गया है।

जापान: अगले साल भी ओलिंपिक होने की संभावना कम

जापान टाइम्स के मुताबिक, कोरोना को लेकर देश की प्रतिक्रिया की आलोचना करने वाले एक जापानी विशेषज्ञ ने सोमवार को चेतावनी दी कि उन्हें डर है कि ओलिंपिक 2021 में भी आयोजित होगा। कोबे यूनिवर्सिटी में संक्रमण रोगों के विशेषज्ञ केंटारो इवाटा ने कहा कि इमानदारी से कहूं तो अगले साल ओलिंपिक होने की संभावना कम है। जापान और अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति ने खिलाड़ियों और खेल संघों के दबाव में इस साल जुलाई में आयोजित होने वाले ओलिंपिक को अगले साल जुलाई तक स्थगित कर दिया था।

चीन: पर्यटन स्थल खोले गए

न्यूज एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, चीन में अब पर्यटन स्थल खुलने लगे हैं। बीजिंग में चीन की दीवार समेत 73 पर्यटन स्थलों को खोल दिया गया है। ये सभी पर्यटन स्थल दूर के इलाकों में स्थित हैं। एक अधिकारी के मुताबिक, इन सभी जगहों पर 30% पर्यटकों को ही जाने दिया जाएगा। उधर, चीन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि देश में 12 नए मामलों की पुष्टि हुई है। नेशनल हेल्थ कमीशन ने बताया कि चार मामले घरेलू रूप से संपर्क में आने के कारण हुए है। इनमें से तीन हेलुंगजांग प्रांत और एक मंगोलिया स्वायत्त क्षेत्र से सामने आया है। वहीं आठ अन्य मामले बाहर से आए हैं। रविवार को चीन में कोई मौत नहीं हुई।

चीन: वुहान से बीजिंग जाने के लिए ट्रेन का इंतजार करता यात्री।

हॉन्गकॉन्ग: इस हफ्ते 15 लोकतंत्र समर्थक गिरफ्तार
हॉन्गकॉन्ग पुलिस के अनुसार, पिछले साल अगस्त और अक्टूबर के बीच हुए अनाधिकृत सभाओं में शामिल 15 लोकतंत्र समर्थक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है। सीएनएन के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए लोगों में शामिल जोशुआ वोंग ने गिरफ्तारी के समय पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि इस समय पूरी दुनिया कोरोना से जूझ रही है। उन्होंने कहा कि गिरफ्तारी का फैसला हॉन्गकॉन्ग नहीं, बल्कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी का है।

हॉन्गकॉन्ग के मीडिया टायकून जिमी लाई। वे लोकल न्यूज पेपर एपल डेली के फाउंडर हैं। पुलिस ने 18 अप्रैल को उनके घर से उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

द.कोरिया: 24 घंटे में 13 केस
दक्षिण कोरिया में 24 घंटे में 13 नए मामले दर्ज किए गए। देश में अब तक संक्रमण के 10 हजार 674 मामले मिल चुके हैं, जबकि 236 लोगों की मौत हो चुकी है। लगातार तीसरे दिन नए मामले 20 से नीचे रहे हैं। रविवार को केवल 8 केस ही मिले थे। एक महीने में पहली बार आंकड़ा एक अंक में रहा।

दक्षिण कोरिया: सियोल में हान नदी के किनारे टहलते लोग। देश में संक्रमण के मामलों में काफी कमी आई है।

भारत ने पाकिस्तान के आरोपों को खारिज किया

भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा मोदी सरकार पर कोरोना से मुकाबले के नाम पर भारतीय अल्पसंख्यकों पर अत्याचार के आरोपों को निराधार बताते हुए खारिज कर दिया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने संवाददाताओं के सवालों के जवाब में कहा- पाकिस्तानी नेतृत्व ने अपने आंतरिक हालात से ध्यान हटाने के प्रयास के तहत यह आरोप लगाया है। वह कोरोना से निपटने पर ध्यान देने की बजाय अपने पड़ोसियों पर बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं। जहां तक अल्पसंख्यकों की बात है तो उन्हें हमारी सलाह है कि वे अपने देश के अल्पसंख्यकों की चिंता करें जिनके साथ वाकई में भेदभाव होता है।

द.अफ्रीका: लॉकडाउन के बीच खाने का संकट
फ्रांस24 के मुताबिक, दक्षिण अफ्रीका में लॉकडाउन के बाद खाने का संकट पैदा हो गया है। केपटाउन में एक कम्युनिटी लीडर जोनी फ्रेडरिक्स ने चेतावनी देते हुए कहा-राष्ट्रपति, हम खाद्य संकट के बीच में हैं। यह युद्ध जैसी स्थिति हो गई है। दक्षिण अफ्रीकी राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने के लिए पांच सप्ताह का लॉकडाउन लगा दिया है। फ्रेडरिक्स ने कहा- लोग दुकानों को लूट रहे हैं। लोग एक-दूसरे पर हमला कर रहे हैं। इसका सीधा कारण है भूख। 27 मार्च से लगे लॉकडाउन में गरीब समुदाय के लोगों को भूख का सामना करना पड़ रहा है। लोगों को काम नहीं मिल रहा है, जिससे उन्हें आय हो। पुलिस लगों को हटाने के लिए उनपर रबड़ बुलेट से हमला कर रही है। स्थिति नियंत्रित करने के लिए सेना तैनात किया जा रहा है। सामाजिक कार्यकर्ताओं को डर है कि स्थिति और खराब हो सकती है।

नाइजीरिया: लागोस में सब्जी बाजार में टमाटर खरीदते लोग।

पाकिस्तान: रमजान में मस्जिदों में नमाज जारी रहेगी
बीबीसी के मुताबिक, पाकिस्तान के धर्मगुरुओं ने कहा है कि रमजान के महीनें में मस्जिदों में नमाज जारी रहेगी। हालांकि, जरूरी एहतियात भी बरता जाएगा। पाकिस्तान सरकार ने भी शनिवार क मौलवियों के दबाव में झुकते हुए रमजान के पवित्र महीने में मस्जिदों में सामूहिक नमाज पढ़ने की इजाजत दे दी थी। उधर, सऊदी अरब की सबसे शीर्ष धार्मिक परिषद ने दुनियाभर के मुसलमानों से मस्जिदों में नमाज न पढ़ने की अपील की है। पाकिस्तान में 8,310 संक्रमित हैं, जबकि 168 मौत हो चुकी है।

पाकिस्तान: कराची में शाम की नमाज में शामिल लोग। देश में सिंध प्रांत सबसे ज्यादा प्रभावित है। 

मैक्सिको: 8200 मामलों की पुष्टि

मैक्सिको में अब तक 8,200 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। 24 घंटे के दौरान 30 लोगों की मौत हुई है। उप स्वास्थ्य मंत्रु लोपेज गटेल ने सोमवार को कहा- मैक्सिको में शनिवार तक 8,261 लोग संक्रमित हैं। 10,139 संदिग्ध है और 31,170 की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। वहीं अब तक करीब 686 संक्रमितों की मौत हो चुकी है।

मैक्सिको: मैक्सिकन वकील कैंडेलारियो माल्डोनाडो बैटमैन के ड्रेस में एख बच्चे को केक देते हुए।

ट्यूनीशिया: 38 लोगों की मौत

ट्यूनीशिया में अब तक 38 लोगों की मौत हो गई है। कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 879 हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि देशभर में 13 नए मामले दर्ज किए गए। मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा, “हाल ही में 766 लोगों की जांच की गई थी जिनमें से 39 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

Check Also

Modi will take Oath as PM on June 9 at Rashtrapati Bhavan.

“मेरे जीवन का हर पल डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर द्वारा दिए गए भारत के संविधान के ...