Home / संसार / कोरोना वायरस: ईरान ने 1962 के बाद पहली बार मांगा आईएमएफ से कर्ज, मरने वालों की संख्या 429

कोरोना वायरस: ईरान ने 1962 के बाद पहली बार मांगा आईएमएफ से कर्ज, मरने वालों की संख्या 429

कोरोना वायरस से प्रभावित ईरान ने गुरुवार (12 मार्च) को कहा कि उसने इस महामारी से निपटने में मदद के लिए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) से कर्ज मांगा है। ईरान ने 1962 के बाद अब तक आईएमएफ से कर्ज नहीं लिया है। वहीं दूसरी ओर, ईरान में कोरोना वायरस से गुरुवार को और 75 लोगों की मौत के बाद देश में इस महामारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 429 हो गई है।

ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने ट्वीट किया कि “हमारे केंद्रीय बैंक ने” आईएमएफ के त्वरित वित्तीय प्रतिभूतियों (आरएफआई) से मदद का अनुरोध किया है। उन्होंने कोष को बोर्ड से “जिम्मेदारी के साथ” प्रतिक्रिया देने का आग्रह किया है।

ईरान में 429 लोगों ने गंवाई जान,  10000 से अधिक लोग संक्रमित
ईरान में कोरोना वायरस के कारण 75 और लोगों की मौत होने से इस बीमारी की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 429 हो गई है और 10,000 से अधिक लोग इससे संक्रमित हैं। ईरान ने बृहस्पतिवार (12 मार्च) को यह जानकारी दी। देश में पिछले माह इस बीमारी से पहली मौत की घोषणा के बाद पिछले तीन हफ्तों में यह किसी एक दिन में हुईं सर्वाधिक मौते हैं।

ईरान के स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता कियानौश जहांपौर ने टेलीविजन पर प्रसारित संवाददाता सम्मेलन में कहा, ”पिछले 24 घंटों में 1,075 लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं… जिसके कारण संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 10,075 हो गई है।” उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों से अस्पताल में भर्ती 75 लोगों की मौत हो गई और कुल 429 संक्रमित लोगों को हम गंवा चुके हैं। चीन के बाद ईरान में इस वायरस ने सर्वाधिक कहर बरपाया है। इरान ने 19 फरवरी को पवित्र शिया शहर कोम में पहली मौत की घोषणा की थी।

Check Also

भगवान रामलला का सूर्याभिषेक: भए प्रगट कृपाला, दीन दयाला, रामनवमी आज

सूर्यकुल भूषण श्री रामलला के ललाट पर सुशोभित भव्य ‘सूर्य तिलक’ आज अखिल राष्ट्र को ...