Home / संसार / कोरोना- संक्रमण के भय से विश्व नेता भी करने लगे, नमस्ते-नमस्ते

कोरोना- संक्रमण के भय से विश्व नेता भी करने लगे, नमस्ते-नमस्ते

लंदन :  महामारी बन चुका कोरोना वायरस दुनिया के 90 देशों में अपने पैर फैला चुका है। इस वायरस ने लोगों को ऐसा खौफ पैदा कर दिया है कि वे हाथ मिलाने की जगह भारतीय तरीके से हाथ जोड़कर नमस्ते-नमस्ते कर रहे हैं। इजरायली पीएम नेतन्याहू के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की तस्वीर आई है जिसमें वह नमस्ते करते दिख रहे हैं। उन्होंने घोषणा की है कि वह अब अपने सभी समकक्षों से हाथ मिलाने की जगह उनका नमस्ते के साथ अभिवादन करेंगे। फ्रांस में अब तक 30 लोगों की मौत हो चुकी है और 1000 से अधिक संक्रमित हैं।

कोरोना वायरस के प्रसार से बचने के लिए इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने देशवासियों से अपील की कि वे भारतीय परंपरा के अनुसार हाथ मिलाने की जगह हाथ जोड़कर अभिवादन करें। उन्होंने पिछले सप्ताह प्रेस कॉन्फ्रेंस में देशवासियों को संक्रमण से बचने के उपायों में नमस्ते का अनुसरण करने की भी अपील की। लंदन के मार्लबोरो हाउस में जब कॉमनवेल्थ रिसेप्शन में प्रिंस चार्ल्स पहुंचे तो उन्होंने वहां मौजूद अतिथियों का हाथ जोड़कर अभिवादन किया, जबकि वहां लोग हाथ मिलाकर अभिवादन करते हैं। उन्हें ऐसा करते देख अन्य लोग भी हाथ जोड़कर नमस्ते करते दिखे। ब्रिटेन में कोरोना वायरस के कारण छह लोगों की मौत हो चुकी है और कुल 382 लोग इससे संक्रमित हैं।

नीदरलैंड्स में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 5 हो गई है और संक्रमित लोगों की संख्या 500 से ऊपर है। नीदरलैंड्स के किंग विलियम अलेक्जेंडर भी किसी तरह का रिस्क नहीं लेना चाहते। जब वह जकार्ता पहुंचे तो उन्होंने वहां मौजूद नेताओं से हाथ मिलाने की जगह हाथ जोड़कर अभिवादन किया। जर्मनी में सरकार की बैठक चल रही थी। इस बैठक में जब चांसलर ऐंगला मर्केल पहुंचीं तो उन्होंने आंतरिक मंत्री के अभिवादन के लिए हाथ बढ़ाया, लेकिन मंत्री ने हाथ नहीं मिलाया, जिसके बाद मर्केल हाथ हवा में हिलाकर बैठ गईं।

केंद्रीय सूचना व प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने देशवासियों से कहा कि वे कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए हाथ मिलाने की जगह नमस्ते कर सकते हैं। भारत में कोरोना के अब तक 60 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। बेंगलुरु में एक एग्जिबिशन के दौरान स्टूडेंट्स लोगों से नमस्ते के साथ अभिवादन करने की अपील करते दिखे। कोरोना एक संक्रामक रोग है और एक से दूसरे व्यक्ति में स्पर्श से भी फैल सकता है इसलिए इस तरह की जागरूकता फैलाई जा रही है

Check Also

Modi will take Oath as PM on June 9 at Rashtrapati Bhavan.

“मेरे जीवन का हर पल डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर द्वारा दिए गए भारत के संविधान के ...