Home / पोस्टमार्टम / जमानत मिलते ही शिवसागर पुलिस ने अखिल को लिया रिमांड पर

जमानत मिलते ही शिवसागर पुलिस ने अखिल को लिया रिमांड पर

गुवाहाटी :  राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) कोर्ट से 90 दिनों के बाद देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद अखिल गोगोई की रिहाई की राह फिलहाल आसान होती नहीं दिख रही। शिवसागर पुलिस गुवाहाटी केंद्रीय कारागार से अखिल को गुरुवार सुबह साढ़े पांच बजे रिमांड पर लेकर शिवसागर के लिए रवाना हो गई। गुवाहाटी जेल से शिवसागर कोर्ट में वीडियो के जरिए अखिल को पेश किया गया। शिवसागर जिले में दर्ज एक अन्य मामले में कोर्ट ने अखिल को शिवसागर जिला पुलिस को रिमांड पर सौंप दिया, जिसके चलते सुबह पुलिस अखिल को जेल से अपने जिम्मे लेकर शिवसागर रवाना हो गई।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सीपीआई (माओवादी) का नेता होने के आरोप में गत वर्ष दिसम्बर माह में प्राथमिकी दर्ज कर अखिल को गिरफ्तार किया था। अखिल पर नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के दौरान हिंसक विरोध प्रदर्शन करने का भी आरोप लगा है। एनआईए कोर्ट से एनआईए ने फिर से अखिल को रिमांड पर देने की मांग की थी। इस बीच न्यायालय ने 90 दिनों के अंदर केस डायरी अदालत में पेश नहीं कर पाने पर एनआईए की मांग को ठुकराते हुए अखिल को जमानत दे दिया था। हालांकि जैसे ही अखिल को जमानत मिली वैसे ही शिवसागर पुलिस ने अपने जिम्मे लेने के लिए अपनी तैयारी शुरू कर दी।

उल्लेखनीय है कि अखिल पर राज्य के अलग-अलग थानों में कई मामले लंबित हैं, जिसमें भीड़ को उकसाकर हिंसा कराने तथा हिंसा के दौरान आंदोलनकारियों की मौत होने के भी दो मामले अलग-अलग थानों में दर्ज हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि अखिल की जेल से फिलहाल रिहाई की राह आसान नहीं है। वहीं अखिल की रिहाई के लिए वामपंथी संगठनों के साथ अन्य कई संगठन बीच-बीच में धरना व प्रदर्शन करते रहते हैं। मजेदार बात यह है कि कांग्रेस भी वर्तमान दौर में अखिल की रिहाई की पक्षधर हो चुकी है। एक तरह से सभी सरकारी विरोधी पार्टियां अखिल के नाम पर मतदाताओं का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने की कोशिशों में जुटी हुई है।

Check Also

उत्तर प्रदेश में दूसरे चरण का मतदान संपन्न, आईए जाने क्या हैं इन सीटों पर राजनीतिक समीकरण

डॉ धीरज कुमार लोकसभा चुनाव के द्वितीय चरण के लिए शुक्रवार 26 अप्रैल को वोट ...