Home / पोस्टमार्टम / देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 137 पहुंची, 5700 से ज्यादा लोग निगरानी में

देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 137 पहुंची, 5700 से ज्यादा लोग निगरानी में

भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 137 पहुंच गई है, जबकि उनके संपर्क में आने वाले 5700 से ज्यादा लोगों को निगरानी में रखा गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार (17 मार्च) को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी। इसके साथ ही मंत्रालय ने यह भी बताया कि अब तक 13 मरीजों को कोरोना के संक्रमण से मुक्त किया गया है, जबकि तीन की मौत हुई है।

वहीं दूसरी ओर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से संक्रमित रोगी के इलाज के लिए एचआईवी रोधी दवाइयां लोपीनेवीर और रीटोनेवीर देने की सिफारिश की है। रोगी की स्थिति की गंभीरता को देखते हुए मामला-दर-मामला इन दवाइयों का इस्तेमाल किया जाएगा। मंत्रालय ने मंगलवार (17 मार्च) को जारी ‘कोविड-19 के क्लीनिकल प्रबंधन पर संशोधित दिशानिर्देशों में मधुमेह से ग्रसित, किडनी रोगियों, फेफड़े की बीमारियों से ग्रसित 60 वर्ष से अधिक उम्र के अत्यधिक जोखिम वाले समूहों के लिए लोपीनेवीर और रीटोनेवीर दवाइयों की सिफारिश की है।

पिछले 24 घंटे में 862 लोगों की मौत
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि दुनियाभर में पिछले 24 घंटे के दौरान जानलेवा कोरोना वायरस (कोविड 19) के प्रकोप से 862 लोगों की मौत हो गई है, जिसमें इटली के 368, ईरान के 245 और स्पेन के 152 लोग शामिल है। डब्ल्यूएचओ की कोरोना वायरस को लेकर रिपोर्ट के अनुसार कोरोना वायरस से मरने वालों लोगों की संख्या बढ़कर 6606 हो गई है और पिछले 24 घंटों के दौरान इस वायरस के 13,903 नए मामले दर्ज किए गए है। दुनिया भर में फिलहाल 167,511 लोग कोरोना वायरस की चपेट में है, जबकि चीन में अबतक 81,434 लोगों की कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है और करीब 3218 लोगों की इस वायरस के चपेट में आने के बाद मौत हो गई है।

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक़ पिछले 24 घंटों के दौरान चीन में कोरोना वायरस से 14 और चीन के बाहर 848 लोगों की मौत हुई है। चीन में अबतक 3218 लोगों की इस वायरस की चपेट में आने से मौत हुई है, जबकि चीन के बाहर अभी तक 3388 लोगों की कोरोना के कारण मौत हुई है। इसके अलावा यह वायरस विश्व के 151 देशों में अपने पैर पसार चुका है और चीन समेत विश्व के अन्य देशों में स्थिति बेहद गंभीर बनी हुई है।

Check Also

लोकसभा चुनाव 2024: माहौल बदलने लगा है…? Sneh Madhur 

माहौल बदलने लगा है…? क्या योगी 2029 तक मुख्यमंत्री बने रहेंगे? Sneh Madhur  वर्ष 2024 ...