Home / पोस्टमार्टम / दौड़ जीतने की खुशी में बेटे को मेला घुमाने निकला था बुजुर्ग, स्कूटी पर बैठे थे जीजा और साले..

दौड़ जीतने की खुशी में बेटे को मेला घुमाने निकला था बुजुर्ग, स्कूटी पर बैठे थे जीजा और साले..

महेंद्रगढ़, हरियाणा. मौत कब और कहां आ जाए…कोई नहीं जानता। मंगलवार को कनीना-डहीना मार्ग पर एक तेज रफ्तार कार ने बाइक और स्कूटी को जबर्दस्त टक्कर दे मारी। हादसे में दोनों छोटी गाड़ियों पर सवार चारों लोगों की मौत हो गई। हादसे के बाद कार पानी की टंकी से जा टकराई। इसके बाद ड्राइवर उतरकर भाग गया।

मेला देखने जा रहे थे पिता और पुत्र

डहीना थाने के जांच अधिकारी दिनेश कुमार ने बताया कि मंगलवार की सुबह 62 वर्षीय लालचंद यहां के सीहोर में आयोजित बुजुर्गों की दौड़ में विजयी रहे थे। इस खुशी में वे अपने बेटे 22 साल के संजय बाइक पर बैठकर मेला देखने निकले थे। तभी तेज रफ्तार कार ने उनकी बाइक सहित एक स्कूटी को टक्कर दे मारी। स्कूटी पर 40 वर्षीय महावीर रिवास और उनका जीजा 65 वर्षीय कैलाश पाली बैठे थे। एक्सीडेंट के बाद चारों गाड़ियों से उछलकर दूर जा गिरे। हादसे के बाद कार का ड्राइवर भाग निकला।

Check Also

Bombay High Court के जज ने भरी अदालत में इस्तीफा क्यों दिया?

हाईकोर्ट जज ने खुली अदालत में इस्तीफे दिया *साभार प्रस्तुति* *आनन्द श्रीवास्तव, अधिवक्ता* बॉम्बे हाई ...