Home / पोस्टमार्टम / सख्त शर्तों के साथ 26 जिलों में चुनिंदा उद्योग और कारोबार शुरू, पुणे और पिंपरी चिंचवाड़ में आठ दिनों तक सख्त कर्फ्यू रहेगा

सख्त शर्तों के साथ 26 जिलों में चुनिंदा उद्योग और कारोबार शुरू, पुणे और पिंपरी चिंचवाड़ में आठ दिनों तक सख्त कर्फ्यू रहेगा

मुंबई. तमाम कोशिशों के बावजूद महाराष्ट्र में महामारी फिलहाल काबू में नहीं आ सकी है। 24 घंटे के दौरान राज्य में 552 लोग संक्रमित पाए गए। अब कुल पॉजिटिव केस 4,200 हो गए हैं। वहीं, मुंबई यह संख्या 2,724 हो गई। राज्य में रविवार को 12 लोगों की मौत हुई। महाराष्ट्र में अब तक 223 लोग इस बीमारी के चलते जान गंवा चुके हैं। मुंबई में धारावी, वर्ली समेत कई इलाके महामारी से  प्रभावित हैं। पुणे, ठाणे और नासिक जिले के मालेगांव में भी मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है। राहत सिर्फ इतनी कि 507 लोग स्वस्थ भी हुए।

सोमवार से 26 जिलों में लॉकडाउन से सशर्त ढील रहेगी। हालांकि, पिंपरी-चिंचवाड़ समेत 8 जिलों में सख्त कर्फ्यु रहेगा। वहीं, मुंबई के 21 पत्रकारों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटव है।

शर्तों के साथ 26 जिलों में काम शुरू 

महाराष्ट्र सरकार ने सोमवार से राज्य के ग्रीन और ऑरेंज जोन वाले 26 जिलों में लॉकडाउन में कुछ राहत दी है। हालांकि, मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन और पुणे, पिंपरी-चिंचवाड़ और नागपुर जैसे रेड जोन के शहरों में लॉकडाउन से कोई राहत नहीं मिलेगी। इन शहरों में आवश्यक सेवाएं पहले की तरह जारी रहेंगी। सरकार की राहत ज्यादातर ग्रीन और ऑरेंज जोन वाले जिलों के लिए हैं। ग्रामीण क्षेत्र के उद्योगों और कृषि क्षेत्र के लिए छूट की घोषणा की गई है।

  • इन जिलों को छूट नहीं: मुंबई शहर, मुंबई उपनगर, ठाणे, पालघर, पुणे, नागपुर, रायगढ़, सांगली, औरंगाबाद, मालेगांव(नासिक) और अहमदनगर।
  • इन जिलों को कुछ राहत: रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, सातारा, कोल्हापुर, नासिक शहर, जलगांव, उस्मानाबाद, बीड, जालना, हिंगोली, लातूर, अमरावती, अकोला, यवतमाल, बुलढाणा, वाशिम और गोंदिया। धुले, नंदुरबार, सोलापुर, परभणी, नांदेड़, वर्धा, चंद्रपुर, भंडारा और गढ़चिरौली शामिल हैं।

मुंबई के अंधेरी इलाके में सड़क निर्माण और रिपेयर का काम शुरू कर दिया गया है। 

पुणे और पिंपरी में 8 दिन का कर्फ्यू

पुणे और पिंपरी चिंचवाड़ में आगामी 8 दिनों तक कड़ा लॉकडाउन रहेगा। सोमवार रात 12 बजे से दोनों शहरों में कर्फ्यू को कड़ाई से लागू कर दिया गया है। अब जरूरी चीजों की दुकानें भी सिर्फ दो घंटे (सुबह 10 से 12) के बीच खुलेंगी।

21 पत्रकार भी संक्रमित
मुंबई के 21 पत्रकारों की कोरोना रिपोर्ट सोमवार को पॉजिटिव आई। इनमें टीवी रिपोर्टर, कैमरापर्सन और न्यूज फोटोग्राफर शामिल हैं। जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने 16 अप्रैल को एक टेस्ट कैम्प लगाया था। 167 पत्रकारों के सैम्पल लिए गए थे। 21 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

लॉकडाउन के बीच पुणे में छतों पर लोग योग करते हुए नजर आए, इस दौरान लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन भी किया। 

कोरोना अपडेट्स: 21 जर्नलिस्ट संक्रमित मिले

  • बीएमसी ने बारिश से पहले की तैयारियों के लिए प्री मानसून कार्यों को भी कुछ शर्तों के साथ करने की मंजूरी दे दी। सार्वजनिक परियोजना, सड़क और पुल की मरम्मत का काम, ड्रेनेज और सीवरेज का काम, पानी आपूर्ति से संबंधित कार्य व अन्य कार्य होंगे। गौरतलब है कि बारिश से पहले मुंबई में बड़े पैमाने पर नालों की सफाई और रास्तों की मरम्मत का काम किया जाता है।
  • मुंबई मेट्रोपोलिटन रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी (एमएमआरडीए) भी सोमवार से शहर के सभी 9 मेट्रो कॉरिडोर पर काम शुरू करेगी। राज्य और देश में तालाबंदी की घोषणा के बाद से सभी परियोजनाओं का काम बंद हो गया था। एमएमआरडीए के एक अधिकारी ने बताया कि फ्लाईओवर का, मुंबई ट्रांस-हार्बर लिंक (एमटीएनएल) और राजमार्ग के नवीनीकरण का काम शुरू किया गया है।
  • धारावी में 24 घंटे में 20 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। यहां संक्रमितों की संख्या 138 पहुंच गई। सिर्फ धारावी में अब तक 11 लोगों की जान जा चुकी है। धारावी के बाद माहिम, दादर इलाके में कोरोना के मरीज रोज मिल रहे हैं। माहिम में चार मरीज रविवार को मिले। यहां संख्या 14 तक पहुंच गई है। रविवार को जो मरीज मिले हैं, वह हाई रिस्क कांटेक्ट वाले हैं। यह सभी न्यू माहिम पुलिस कॉलोनी के हैं।
  • लॉकडाउन का उल्लंघन कर मॉर्निंग वॉक करने वाले 119 लोगों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया। यह कार्रवाई विरार, नालासोपारा, वसई पुलिस ने की है। पुलिस ऐसे लोगों पर नजर रखने के लिए ड्रोन कैमरे का इस्तेमाल कर रही है।

लॉकडाउन के कारण सोलापुर में अंगूर की फसल इस कदर बर्बाद हो रही है। किसान यहां इसे खेतों में फेंकने को मजबूर हैं।   

पुणे में दो साल की बच्ची में कोरोना संक्रमण 

पुणे में एक 2 साल की बच्ची की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। यह बच्ची कुछ दिन पहले ही इलाके के रेडियोलॉजिस्ट डॉक्टर के पास अपनी मां के साथ गई थी। ये डॉक्टर बाद में कोरोना पॉजिटिव पाया गया। हालांकि, बच्ची की मां की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। अब मां और उसकी बेटी दोनों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

Check Also

भारत में जलवायु परिवर्तन का भयंकर प्रभाव: तूफानी बाढ़ प्रेरित आपदा

भारत में जलवायु परिवर्तन का भयंकर प्रभाव: तूफानी बाढ़ प्रेरित आपदा आज जलवायु बहुत तेजी ...