Home / स्वास्थ्य / सिंदूर से जुडी ये 10 बातें नहीं जानती होंगी शादीशुदा महिलाएं, पढ़ कर रह जाएँगी हैरान

सिंदूर से जुडी ये 10 बातें नहीं जानती होंगी शादीशुदा महिलाएं, पढ़ कर रह जाएँगी हैरान

इसमें कोई शक नहीं कि एक सुहागन के लिए सिंदूर का काफी महत्व होता है. जी हां हिन्दू धर्म के अनुसार भी सुहागन स्त्रियों के लिए सिंदूर लगाना काफी महत्वपूर्ण माना गया है. इसके इलावा हिन्दू शास्त्रों में सिंदूर को लेकर कुछ खास बातें भी कही गई है. जिनसे आज हम आपको रूबरू करवाना चाहते है. कहते है कि हिन्दू धर्म के अनुसार सिंदूर एक सुहागन स्त्री के लिए उसका सबसे बड़ा गहना होता है. जो उसके सुहागन होने की निशानी होता है. बरहलाल अब हम आपको सिंदूर से जुडी कुछ खास बातें बताते है, जिनके बारे में जान कर आप भी हैरान रह जायेंगे. यक़ीनन आप भी सिंदूर से जुडी इन बातों के बारे में नहीं जानते होंगे.

१. ऐसा माना जाता है कि जो सुहागन स्त्रियां अपनी मांग में सिंदूर लगाती है, इससे उनके पति की उम्र न केवल लम्बी हो जाती है, बल्कि उनके जीवन साथी का स्वास्थ्य और सौभाग्य भी हमेशा अच्छा ही रहता है.

२. इसके इलावा मांग में सिंदूर लगाने का एक वैज्ञानिक कारण भी है. जी हां दरअसल महिलाएं सर के बीच जिस जगह पर सिंदूर लगाती है, वहां एक खास ग्रंथि होती है. इस ग्रंथि को ब्रह्मरंध्र कहा जाता है. बता दे कि यह जगह काफी संवेदनशील होती है.

३. आपको जान कर ताज्जुब होगा कि ब्रह्मरंध्र पर सिंदूर लगाने से स्त्रियों का मानसिक तनाव कम होता है. यहाँ तक कि इससे दिमाग से जुडी बीमारियां भी कम होने की सम्भावना रहती है. यानि सिंदूर स्त्रियों के लिए भी काफी लाभदायक है.

४. इसके इलावा सिंदूर रक्तचाप को भी नियंत्रित करता है.

५. गौरतलब है कि शास्त्रों के अनुसार लाल रंग शुभता और सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है. ऐसे में जो महिलाएं सिंदूर के रूप में इस रंग को लगाती है वो काफी सौभाग्यशाली होती है.

६. इसके साथ ही ऐसा माना जाता है कि माँ लक्ष्मी उस घर में जरूर निवास करती है, जिस घर की महिलाएं माथे पर सिंदूर लगाती है.

७. गौरतलब है कि सिंदूर स्त्रियों को नकारात्मक और बुरी नजरो से भी बचाता है.

८. अब यूँ तो महिलाएं हर रोज खुद ही अपनी मांग में सिंदूर लगाती है, लेकिन कुछ खास मौको पर जैसे कि त्यौहार या करवा चौथ पर पति को ही अपनी पत्नी की मांग में सिंदूर लगाना चाहिए. जी हां इससे पति और पत्नी के बीच प्रेम बना रहता है.

९. इसके इलावा सिंदूर लगाने से महिलाओ की एकाग्रता बढ़ती है. जी हां यानि इससे उनके मन की अशांति दूर होती है और उनका मन शांत रहता है.

१०. गौरतलब है कि जो महिलाएं मांग में सिंदूर नहीं लगाती, भाग्य भी उन महिलाओ के पति का साथ नहीं देता. यानि उनके पति को भाग्य का साथ नहीं मिलता. बता दे कि ऐसी स्त्रियों के पति हमेशा परेशान रहते है. यही वजह है कि हिन्दू धर्म के अनुसार मांग में सिंदूर लगाना जरुरी माना जाता है.

हालांकि आज के मॉडर्न समय में लड़कियां कम ही अपनी मांग में सिंदूर लगाती है. मगर फिर भी हम उम्मीद करते है, कि इसे पढ़ने के बाद अब आप हर रोज अपनी मांग में सिंदूर लगाएंगी.

Check Also

No Tobacco Day News from Kolkata

India’s and Kolkata’s Eminent Pulmonologist Dr Raja Dhar on“World No Tobacco Day,”– Protecting Our Youth ...