Wednesday , September 22 2021
Home / Slider / “साठ साल से ऊपर के आप अपने जीवन को अपनी इच्छानुसार जी सकते हैं”

“साठ साल से ऊपर के आप अपने जीवन को अपनी इच्छानुसार जी सकते हैं”

Prayagraj.

Allahabad Management Association organised a virtual motivational talk LIFE AFTER 60 on 7th August’21 .The speaker was Dr Kailash Jyani ,the renowned personal & leadership coach and member John Maxwell team.

The session was an aim to make the evening of your life as rosy as your youth. It doesn’t matter whether you are of twenty two years or above sixty years you can live your life the way you want. There are many examples where people had started their innings after 60 years and accomplished unexpected goals. They were recognised as great leaders and entrepreneurs. Age is no bar, yes challenges of course are there. In this session the speaker emphasised about the ‘fountain of youth’, and disclosed the secrets of remaining young. The power of words you speak and the power of thought you think are most powerful tools to create experiences. It explains how you can write your own destiny; how you can decrease your suffering and remain happy; how your lifespan is in your hands; and ways you can alter it. It is not Supreme power who decides your destiny or how long you will live. He has better things to do. Remember, you are one with the Power and that Power has created you and has given you the power to create your own circumstances You may chose the best or the worst, choice is always yours.


In this session Dr Jyani disclosed the power of thoughts and how to control them and use them to your benefit. He discussed both the scientific as well as the spiritual aspects of human life and went deep into the philosophy of human existence on this earth planet.
Besides the speaker also highlighted the current scenario and thought process of people aged 60 years and above.and the
mistakes people make in their life before reaching 60.

The past president AMA Mr Vibhav Bajpai introduced the guest speaker and the vote of thanks was proposed by the President Mr Ravi Prakash.Mr AK Prasad Vice President and Dr Shanti Chaudhri helped in coordinating the program .The program was deftly conducted by the secretary Mr OP Goel. The talk was well appreciated by the 35 members.who had registered for the program.

इलाहाबाद मैनेजमेंट एसोसिएशन ने एक वर्चुअल मोटिवेशनल टॉक LIFE AFTER 60 का आयोजन किया।

स्पीकर डॉ कैलाश ज्ञानी, प्रसिद्ध व्यक्तिगत और नेतृत्व कोच और सदस्य जॉन मैक्सवेल टीम थे।

सत्र का उद्देश्य आपके जीवन की शाम को अपनी युवावस्था की तरह गुलाबी बनाना था। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप बाईस साल के हैं या साठ साल से ऊपर के आप अपने जीवन को अपनी इच्छानुसार जी सकते हैं। ऐसे कई उदाहरण हैं जहां लोगों ने 60 साल बाद अपनी पारी की शुरुआत की और अप्रत्याशितz लक्ष्यों को हासिल किया। उन्हें महान नेताओं और उद्यमियों के रूप में पहचाना जाता था। उम्र कोई रोक नहीं है, हां चुनौतियां जरूर हैं।

इस सत्र में वक्ता ने ‘युवाओं के फव्वारे’ पर जोर दिया और शेष युवा के रहस्यों का खुलासा किया। आपके द्वारा बोले जाने वाले शब्दों की शक्ति और आपके विचार में विचार की शक्ति अनुभव बनाने के लिए सबसे शक्तिशाली उपकरण हैं। यह बताता है कि आप अपना भाग्य खुद कैसे लिख सकते हैं; आप अपने दुख को कैसे कम कर सकते हैं और खुश रह सकते हैं; तेरे हाथ में तेरा जीवन कैसा है; और तरीके आप इसे बदल सकते हैं। यह सर्वोच्च शक्ति नहीं है जो आपका भाग्य तय करती है या आप कब तक जीवित रहेंगे। उसके पास करने के लिए बेहतर चीजें हैं। याद रखें, आप शक्ति के साथ एक हैं और उस शक्ति ने आपको बनाया है और आपको अपनी खुद की परिस्थितियों को बनाने की शक्ति दी है, आप सबसे अच्छा या सबसे खराब चुन सकते हैं, चुनाव हमेशा आपका होता है।

इस सत्र में डॉ ज्ञानी ने विचारों की शक्ति और उन्हें नियंत्रित करने और अपने लाभ के लिए उनका उपयोग करने के बारे में बताया। उन्होंने मानव जीवन के वैज्ञानिक और आध्यात्मिक दोनों पहलुओं पर चर्चा की और इस पृथ्वी ग्रह पर मानव अस्तित्व के दर्शन में गहराई से गए।
इसके अलावा स्पीकर ने 60 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों के वर्तमान परिदृश्य और विचार प्रक्रिया पर भी प्रकाश डाला कि 60 साल की उम्र तक पहुंचने से पहले लोग अपने जीवन में गलतियाँ करते हैं।

पूर्व अध्यक्ष एएमए श्री विभव बाजपेयी ने अतिथि वक्ता का परिचय दिया और धन्यवाद प्रस्ताव राष्ट्रपति श्री रवि प्रकाश ने दिया। श्री एके प्रसाद उपाध्यक्ष और डॉ शांति चौधरी ने कार्यक्रम के समन्वय में मदद की। कार्यक्रम का संचालन सचिव श्री ओपी गोयल ने चतुराई से किया। कार्यक्रम के लिए पंजीकृत ३५ सदस्यों ने इस भाषण की खूब सराहना की।

Check Also

ई. विनय गुप्ता ने “कंक्रीट एक्सप्रेशंस – ए प्रैक्टिकल मैनिफेस्टेशन” पर एक तकनीकी प्रस्तुति दी

*आईसीआईएलसी – अल्ट्राटेक वार्षिक पुरस्कार 2021* लखनऊ। भारतीय कंक्रीट संस्थान, लखनऊ केंद्र ने अल्ट्राटेक सीमेंट ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *