Home / Slider / अमेरिका भारत को जल्द ही सबसे खतरनाक मिसाइल देगा

अमेरिका भारत को जल्द ही सबसे खतरनाक मिसाइल देगा

Trump की भारत यात्रा

डॉ दिलीप अग्निहोत्री

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बयानों व व्यवहार से विश्व के अनेक नेता परेशान भी हुए है। उनके साथ ट्रम्प के निजी संबन्धों पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ा। लेकिन भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके व्यक्तित्व से अधिक अपने राष्ट्रीय हित को तरजीह दी। यही कारण है कि आज दोनों देशों के बीच मजबूत साझेदारी है। पिछले कुछ समय में दोनों देशों के बीच कारोबार में चालीस प्रतिशत तक कि बढोत्तरी हुई है। ट्रम्प की भारत यात्रा से दोनों देशों के बीच आपसी सहयोग बढेगा। ट्रम्प सपरिवार भारत यात्रा पर है।

अहमदाबाद और आगरा की उनकी यात्रा अपने में बहुत कुछ कहने वाली है। यहां उन्होंने भारत की उभरती हुई ताकत को स्वीकार किया। यह माना कि भारत प्रजातंत्र और कल्याणकारी व्यवस्था के तहत प्रगति कर रहा है। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की वैश्विक भूमिका में भी विस्तार हुआ है।

अहमदाबाद में डोनाल्ड ट्रंप के भाषण से स्पष्ट हुआ कि वह नेतृत्व के स्तर पर नरेंद्र मोदी के मुरीद है। मोदी सरकार की अनेक योजनाओं की विश्व स्तर पर प्रशंसा हो रही है। अनेक देशों ने इससे प्रेरणा ली है। यह कहा गया कि मोदी सरकार बेहतर तरीके से आमजन के कल्याण हेतु कार्य कर रही है। ट्रम्प ने आयुष्मान, उज्जवला योजना,डिजिटल इंडिया, प्रधानमंत्री आवास योजना जैसी मोदी सरकार की योजनाओं को लोक कल्याणकारी बताया। यह स्वीकार किया कि भारत बड़ी शक्ति बनकर उभर रहा है।

नरेंद्र मोदी एक चैंपियन हैं जो भारत को विकास की दिशा में आगे बढ़ा रहे हैं। भारत और अमेरिका की दोस्ती मजबूत हो रही है। नरेंद्र मोदी बचपन में चाय बेचते थे। ट्रम्प को इस बात की भी जानकारी थी। भारतीय प्रजातंत्र के प्रति उन्होंने सम्मान भी व्यक्त किया। यहां गरीब परिवार में जन्म लेने वाला भी शीर्ष पदों पर पहुंच सकता है। डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा के दूसरे दिन दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय वार्ता होगी। जिससे आपसी साझेदारी का विस्तार होगा। दोनों देश सामरिक क्षेत्र में भी आपसी सहयोग का विस्तार कर रहे हैं।

ट्रम्प ने अहमदाबाद में ऐलान किया कि हम भारत को जल्द ही सबसे खतरनाक मिसाइल और हथियार देंगे। नरेंद्र मोदी विश्व मंचो से आतंकवाद के विरुद्ध साझा प्रयासों का मुद्दा उठाते रहे है। ट्रम्प ने इसके प्रति सहमति दिखाई। उन्होंने कहा कि दोनों आतंकवाद के संयुक्त रणनीति पर कार्य करेंगे।अमेरिका वैसे भी इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ अमेरिका लड़ाई लड़ रहा है। हमारे देश इस्लामिक आतंकवाद का शिकार रहे हैं, जिसके खिलाफ हमने लड़ाई लड़ी है। अमेरिका ने अपने एक्शन में आईएस को और अल बगदादी का खात्मा किया। आतंक के खिलाफ पाकिस्तान पर भी अमेरिका ने दबाव बनाया है। पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ एक्शन लेना होगा।इस प्रकार उन्होंने भारतीय जमीन से पाकिस्तान को चेतावनी दी है।

डोनाल्ड ट्रंप ने होली, दिवाली,स्वामी विवेकानन्द,महात्मा गांधी और भारत की विविधता में एकता का भी उल्लेख किया। यह स्वीकार किया कि अमेरिका के विकास में भारतीय मूल के लोगों ने बहुत योगदान दिया है। ताज महल में भी ट्रम्प परिवार भारत की धरोहर से प्रभावित हुआ।

Check Also

সিটি অফ জয় কলকাতায় আসন্ন বলিউড ফিল্ম ‘কুসুম কা বিয়াহ’ -এর প্রিমিয়ার অনুষ্ঠিত হল*

*সিটি অফ জয় কলকাতায় আসন্ন বলিউড ফিল্ম ‘কুসুম কা বিয়াহ’ -এর প্রিমিয়ার অনুষ্ঠিত হল* কলকাতা, ...