Home / सिनेमा / Birthday special: परवीन बाबी की ज़िंदगी किसी रहस्य से कम नहीं थी, हुआ दुखद अंत

Birthday special: परवीन बाबी की ज़िंदगी किसी रहस्य से कम नहीं थी, हुआ दुखद अंत

ख़ूबसूरत और लोकप्रिय बॉलीवुड सुपरस्टार परवीन बाबी का आज जन्मदिन है। परवीन बाबी बॉलीवुड की सबसे आइकोनिक ऐक्ट्रेस में से एक थीं और बॉलीवुड की पहली ऐसी अभिनेत्री थीं जो बोल्ड सीन करने से कभी पीछे नहीं हटती थीं। परवीन एक रहस्यमय ज़िंदगी जीने वाली महिला थीं, जिनकी मौत भी एक रहस्य ही थी। दशकों से बॉलीवुड में अपने फ़ैन्स को मंत्रमुग्ध करने वाली परवीन सिने पर्दे पर काफी बोल्ड थीं।

परवीन बाबी का जन्म 4 अप्रैल 1949 को गुजरात के जूनागढ़ में एक पठान मुस्लिम समुदाय में हुआ था। परवीन बाबी की शुरुआत भले ही फ़्लॉप रही हो पर अपनी मेहनत और लगन से वे 70 के दशक की सबसे बड़ी स्टार बन गयी थीं। अमर अकबर एंथोनी जैसी क्लासिक ब्लॉकबस्टर्स से लेकर नमक हलाल और शान तक उन्होंने फ़िल्मी पर्दे पर कई यादगार किरदार निभाए हैं। परवीन बाबी 1976 की पहली भारतीय महिला अदाकार बनीं जो टाइम मैगज़ीन के कवर पर छापी गयीं। वह उस समय केवल 27 वर्ष की थी।

परवीन बाबी ने फ़िल्मों में हीरोइनों के अवतार को बदल के रख दिया था। दर्शक एक हीरोइन को हमेशा सलवार-सूट और साड़ी पहने देखते थे पर बाबी ने समुद्र में वेस्टेर्न वीयर पहनकर फ़िल्म जगत में ख़ुद को एक नयी पहचान दी थी। परवीन बाबी का जीवन अक्सर विवादों में ही बीता। अफ़वाहें तो यह भी थी कि कबीर बेदी, डैनी डेन्जोंगपा, महेश भट्ट और यहां तक ​​कि अमिताभ बच्चन जैसे सितारों के साथ उनका अफेयर था।

महेश भट्ट ने बाद में बाबी और उनके रिश्ते के बारे में दो फिल्में बनाईं ‘अर्थ’ (1982) और ‘वो लम्हे’(2006)।

परवीन ने अपने 15 साल के फ़िल्मी करियर में 50 से अधिक बॉलीवुड फ़िल्मों में काम किया। साल 1983 के आसपास, बाबी सार्वजनिक रूप से लगभग पूरी तरह से गायब हो गयी थीं।

22 जनवरी, 2005 को परवीन बाबी रहस्यमयी तरीक़ों से अपने घर पर मृत पाई गयी थी। हालांकि उनकी मौत 3 दिन पहले 20 जनवरी 2005 को ही हो गयी थी। इसी के साथ एक खूबसूरत फ़िल्मी अदाकारा की ज़िंदगी का अंत हो गया। आज भी बाबी फ़िल्मी दुनिया और लोगों के दिल में उतनी ही खूबसूरत हैं जितना की वो जीवित होती तो दिखतीं।

परवीन बाबी जब भी जेहन में आती हैं एक ही गाना याद आता है- प्यार करने वाले प्यार करते हैं शान से, जीते हैं शान से मरते हैं शान से…

Check Also

राज्य नाट्य समारोह: “ठग ठगे गये” का मंचन

  “ठग ठगे गये” का मंचन        उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी, लखनऊ ...