Wednesday , September 22 2021
Home / विविध / मन की बात

मन की बात

“वह औरत रोती रही, चीख़ती रही, अपनी इज़्ज़त को बचाने के लिए इंसानी रूपी भेड़ियों के सामने गिड़गिड़ाती रही…!!!”: दीपा शर्मा

हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस की महासचिव दीपा शर्मा की जुबानी  एक महिला का दर्द **!!! वह औरत रोती रही, चीख़ती रही, अपनी इज़्ज़त को बचाने के लिए इंसानी रूपी भेड़ियों के सामने गिड़गिड़ाती रही, डंडो एवं लाठियों से पिटती रही, चीख़ती रही, चिल्लाती रही, ऊपर वाले एवं लोगों को मदद के ...

Read More »

“सो अनन्य जाकी मति असि न टरै हनुमंत। मैं सेवक सचराचर स्वामि रूप भगवंत ।।”

सेवक को ऐसा होना चाहिए कि सचर अचर जितने भी जीव प्राणी हैं उनको अपना स्वामी मानकर और अपने को उनका उत्तरदाई सेवक मानकर सेवा करे। हनुमान , जिस मनुष्य में ऐसी अटल बुद्धि हो वही वस्तुत: सेवक है। “सेवा भाव” सन् 1896-97 में पूरे भारत वर्ष में प्लेग महामारी ...

Read More »

“योगी आदित्यनाथ का उभरता उत्तर प्रदेश”: डाॅ. उदय प्रताप सिंह

योगी आदित्यनाथ का उभरता उत्तर प्रदेश डाॅ. उदय प्रताप सिंह योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य के अनोखे मुख्यमंत्री हैं। वह ‘योगी’ नाम से जाने जाते हैं। उत्तर प्रदेश जितना ही सुंदर है यहाँ समस्याओं का उतना ही घना जाल फैला है। कांग्रेस, सपा, बसपा और कुछ मामलों में ...

Read More »

आजादी हमारी..पर, हमारा या तुम्हारा किसका लोकतंत्र…!!!

आजादी हमारी, पर हमारा या …. तुम्हारा किसका लोकतंत्र…!!! वरिष्ठ पत्रकार चन्द्रकिशोर शर्मा हम आज 75 वें स्वाधीनता दिवस का पर्व बड़े हर्षोल्लास के साथ मिलकर मना रहे हैं। आज बेशक खुशी का दिन है……लेकिन ऐसे में हमें आत्म चिंतन करना स्वभाविक हो जाता है, क्या आज की पीढ़ी को कहीं ...

Read More »

“नेताओं के जुलूस सड़क-चौराहे पर दिखाई देने शुरू हो गये हैं”!

“मगर सच है: 1”: राकेश शर्मा सच, जो आप देख रहे है …! यूपी में चुनाव नजदीक हैं…! सामने कोरोना महामारी की तीसरी लहर के आने से लोगों में घबराहट है, डर, दहशत है….मगर, नेताओं ( पक्ष/विपक्ष) को जुलूसों को निकालने की खुली इजाज़त है, निकाले जा रहे हैं! और ...

Read More »

“मेरे पिता सूरज प्रसाद सक्सेना”: कोरोना काल में समाज के लिये बने मिसाल : रचना सक्सेना

समाज और नई पीढ़ी को सही दिशा दिखाने एवं मार्गदर्शन में हमारे बुजुर्गों का विशेष स्थान है। समाज के नैतिक मूल्य और संस्कृति तभी तक जीवित है जब तक हमारे समाज में हमारे बुजुर्गों के अनुभवों और विचारों का सम्मान है जो एक देश, एक समाज और एक परिवार को ...

Read More »

जनेश्वर मिश्र मुझसे बोले, “क्या सर, कुछ हवा-पानी बना?”

जनेश्वर मिश्र : सच्चे समाजवादी नेता ( एक संस्मरण) -रतिभान त्रिपाठी बात 1997 की है। केंद्र में देवगौड़ा की सरकार थी और प्रखर समाजवादी नेता जनेश्वर मिश्र जी उस सरकार में जल संसाधन मंत्री। मैं उन दिनों दैनिक जागरण इलाहाबाद में क्राइम रिपोर्टर हुआ करता था लेकिन राजनीतिक पत्रकारिता में ...

Read More »

“पेगासस का जिन्न किन-किन कंधों पर बैठेगा..?”: वीएन राय IPS

“इन आँखिन देखी” :33: विभूति नारायण राय IPS पेगासस अपनी श्रेणी मे अब तक का सबसे घातक साफ़्टवेयर है । इसे किसी भी मोबाइल फोन , कम्प्यूटर या लैपटाप मे बिना उससे शारीरिक सम्पर्क किये डाला जा सकता है । यहाँ तक कि काफ़ी हद तक सुरक्षित समझे जाने वाली ...

Read More »

“उत्तर प्रदेश में उपलब्ध संसाधनों को देखते हुए जनसंख्या की स्थिति विस्फोटक”

जन कल्याण के लिए जनसंख्या नीति राकेश कुमार मिश्र विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश सरकार ने नई जनसंख्या नीति जारी की जिसका उद्देश्य जनसंख्या नियंत्रण एवं स्थिरीकरण के साथ साथ शिशु मृत्यु दर एवं मातृ मृत्यु दर में भी कमी लाना है। इससे प्रदेश के विकास में ...

Read More »

“कोरोना काल में पुलिस का प्रदर्शन बेहतर रहा”: वीएन राय IPS

“कोरोना काल में पुलिस का प्रदर्शन!”: “इन आँखिन देखी” :31: विभूति नारायण राय IPS इस बार न तो बलात पलायन रोकने का प्रयास हुआ और न ही अतिरिक्त उत्साह मे कर्फ़्यू लगाये गये। लिहाज़ा बहुत सी अप्रिय स्थितियों से पुलिस बच सकी। पिछली बार की ही तरह इस बार भी ...

Read More »