Wednesday , September 22 2021
Home / उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश

up

शब्दों का संस्कारों में अनुवाद है हिंदी, बच्चन निराला पंत है प्रसाद है हिंदी- डॉo श्लेष गौतम

*शब्दों का संस्कारों में अनुवाद है हिंदी, बच्चन निराला पंत है प्रसाद है हिंदी- डॉo श्लेष गौतम* *प्रयागराजl रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन इंटर कॉलेज राजापुर प्रयागराज के संगीताचार्य मनोज गुप्ता की सूचनानुसार विद्यालय के प्रधानाचार्य बांके बिहारी पांडे के निर्देशन में हिंदी पखवाड़ा के अंतर्गत पुरातन छात्र परिषद ...

Read More »

पितृपक्ष पर विशेष : “आशीर्वाद पिता का…” : डॉ रविशंकर पांडेय

पितृपक्ष पर विशेष *************** आशीर्वाद पिता का डॉ रविशंकर पांडेय खतम हुआ सब मेला ठेला शाम हुई जब हुआ अकेला स्मृतियों से छनकर के तब चेहरा आता याद पिता का । तुम क्या गए कि निपट अकेला ज्यों मेले में छूट गया मैं एक खिलौना मिट्टी जैसा टुकड़े टुकड़े टूट ...

Read More »

लायंस अनिंद का पौधा रोपण कार्यक्रम

लायंस अनिंद का पौधा रोपण कार्यक्रम लखनऊ। लायंस क्लब राजधानी अनिंद द्वारा सेवा और संस्कृति की भावना से गतिविधियों का संचालन किया जाता है। सेवा कार्यों के अंतर्गत गरीबों को राहत सामग्री का वितरण निर्बल वर्ग के बच्चों की सहायता आदि अनेक कार्यक्रम चलाए जाते है। संस्कृति के अंतर्गत ध्यान ...

Read More »

ई. विनय गुप्ता ने “कंक्रीट एक्सप्रेशंस – ए प्रैक्टिकल मैनिफेस्टेशन” पर एक तकनीकी प्रस्तुति दी

*आईसीआईएलसी – अल्ट्राटेक वार्षिक पुरस्कार 2021* लखनऊ। भारतीय कंक्रीट संस्थान, लखनऊ केंद्र ने अल्ट्राटेक सीमेंट के सहयोग से शनिवार, 18 सितंबर 2021 को फेयरफील्ड मैरियट, लखनऊ में वार्षिक पुरस्कार समारोह 2021 का आयोजन किया। COVID-19 के सभी एहतियाती उपायों का विधिवत पालन किया गया। वार्षिक पुरस्कार दिवस समारोह में उत्कृष्ट ...

Read More »

प्रयागराज में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी महाराज ने की आत्महत्या: suicide note मिला: आनंद गिरि पर शक की सुई

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी महाराज नहीं रहे *दोपहर में विद्यार्थियों के साथ प्रसन्नता पूर्वक किया था भोजन, दोपहर बाद अपने कमरे में लगाई फांसी* *शाम को जब नहीं निकले कमरे से बाहर तब सेवकों और विद्यार्थियों ने कमरे में जाकर देखा तो फंदे से लटकते दिखाई दिए* ...

Read More »

साहित्यकारों ने अपनी कविताओं एवं विचारों के द्वारा हिन्दी को अन्तर्राष्ट्रीय क्षितिज पर समृद्धि करने हेतु हुंकार भरी

हिन्दी दिवस के उपलक्ष्य में “रविआभा युगनिर्माण समाज एवं एजुकेशनल एण्ड सोशल वेलफेयर ट्रस्ट“के साहित्यिक अंग “अन्तर्राष्ट्रीय मानवतावादी लेखक संगठन”(अमालेस) के प्रांगण में एक भव्य आॅनलाइन अंतर्राष्ट्रीय कवि सम्मेलन एवं विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें पूरे भारत ही नहीं बल्कि विदेश की धरती से भी लोग बढ़चढ़ प्रतिभाग ...

Read More »

केदारनाथ सिंह स्मृति सम्मान 2021 के लिए रचनाएं/नाम आमंत्रित

केदारनाथ सिंह स्मृति सम्मान 2021 हिंदी की साहित्यिक पत्रिका ‘साखी’ ने कवि केदारनाथ सिंह की याद में वर्ष 2021 से दो युवा कवियों को हर साल ‘केदारनाथ सिंह स्मृति सम्मान’ देने का निर्णय लिया है। देश- विदेश के कवियों, लेखकों, आलोचकों और सम्पादकों से ‘केदारनाथ सिंह स्मृति सम्मान’ के लिए ...

Read More »

प्रोफेसर रूप किशोर शास्त्री ने नई शिक्षा नीति को मूल्य आधारित, हुनर आधारित, सृजनात्मकता और वैज्ञानिक सोच आधारित बताया

प्रयागराज। इलाहाबाद विश्वविद्यालय, राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा “नई शिक्षा नीति : समावेशी शिक्षा नीति” विषयक वेबीनार में बोलते हुए गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय उत्तराखंड के कुलपति प्रोफेसर रूप किशोर शास्त्री ने नई शिक्षा नीति को मूल्य आधारित, हुनर आधारित, सृजनात्मकता और वैज्ञानिक सोच आधारित बताया। उन्होंने कहा कि यह रटने से की ...

Read More »

“विचार विमर्श के बाद जो निष्कर्ष प्राप्त होगा, उस पर काम करना यही अपनी सफलता होगी”: बांके बिहारी पांडे

पूर्व छात्र परिषद का गठन *प्रयागराज। रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन इंटर कॉलेज, राजापुर, प्रयागराज के संगीताचार्य मनोज गुप्ता की सूचनानुसार विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री बांके बिहारी पांडे की अध्यक्षता में पूर्व छात्र परिषद का गठन हुआ, जिसमें उन्होंने समस्त चुने हुए छात्र छात्राओं को अपनी शुभकामनाएं प्रदान की।* ...

Read More »

“हम परिवर्तनकारी समाज हैं, मध्यकालीन जड़ता से मुक्ति का जैसा प्रयास भाषा की दृष्टि से और समाज की दृष्टि से भारतेंदु हरिश्चंद्र ने किया वह अक्षुण्ण महत्व का है”: प्रोफेसर हितेंद्र कुमार मिश्र

प्रयागराज। हिन्दी विभाग, इलाहाबाद विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित व्याख्यानमाला में बोलते हुए पूर्वोत्तर पर्वतीय विश्वविद्यालय, मेघालय के प्रोफेसर हितेंद्र कुमार मिश्र ने कहा कि भारतेंदु ने जिस हिन्दी के नई चाल में ढलने की बात कही थी यह नई चाल केवल साहित्य की नई चाल नहीं है। बल्कि देश की नई ...

Read More »