Home / Slider / 46 जनपदों के 712 मार्गों का डीपीआर शीघ्र गठित करने का निर्देश

46 जनपदों के 712 मार्गों का डीपीआर शीघ्र गठित करने का निर्देश

कृषि उत्पादन आयुक्त की अध्यक्षता में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की राजस्तरीय स्थायी समिति की बैठक

लखनऊ।

कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा की अध्यक्षता में आज प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की राज्य स्तरीय स्थायी समिति की बैठक कृषि उत्पादन आयुक्त, सभाकक्ष, उ0प्र0 सचिवालय लखनऊ में आयोजित की गयी। बैठक में उत्तर प्रदेश ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुजीत कुमार द्वारा पीएमजीएसवाई-3 के अन्तर्गत 46 जनपदों से जिला पंचायत द्वारा प्रस्तावित 5279.61 किमी0 मार्गों के प्रस्ताव अनुमोदन हेतु समिति के समक्ष प्रस्तुत किये गये।

कृषि उत्पादन आयुक्त ने प्रस्तुत प्रस्ताव पर अपना अनुमोदन देते हुए निर्मित किये जाने वाले मार्गों की Soil Testing व डीपीआर गठन के कार्य कोे भारत सरकार द्वारा निर्गत पीएमजीएसवाई-3 की गाइडलाइन्स के अनुसार 15 मार्च तक प्रत्येक दशा में पूरा करने का निर्देश दिया।


कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा ने कहा कि ओमास पर ट्रेस मैप अपलोड करने के बाद 70 जनपदों के कैण्डीडेड रोड बनाये जा चुके है तथा शेष जनपदों के कैण्डीडेट रोड बनाने की प्रक्रिया प्रगति में है। श्री सिन्हा ने कहा कि ओमास पर विकसित सी0यू0सी0पी0एल0 के आधार पर लोक निर्माण विभाग 23 जनपदों में 335 मार्गों की 2489.62 किमी0 तथा ग्रामीण अभियन्त्रण विभाग 23 जनपदों में 377 मार्गों को 2789.99 किमी0 के डी0पी0आर0 का गठन किया जाना है।

उन्होंने 46 जनपदों के 712 मार्गों की 5279.61 किमी0 का डी0पी0आर0 शीघ्र गठित करने हेतु अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि शेष जनपदों के मार्गों का प्रस्ताव जिला पंचायत से अनुमोदन कराया जाए।
कृषि उत्पादन आयुक्त ने कहा कि भारत सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के लिए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना-3 के अन्तर्गत अगले छह वर्षों के लिए 18937 किमी0 का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि 25 जनवरी, 2020 तक 75 जनपदों में से 73 जनपदों का ट्रेस मैप तैयार कर ओमास पर अपलोड किया जा चुका है। जनपद गाजीपुर एवं चन्दौली का ट्रेस मैप तैयार किया जा रहा है।

कृषि उत्पादन आयुक्त ने कहा कि प्रदेश के विभिन्न जनपदों के अन्तर्गत पी0एम0जी0एसवाई-3 की गाईडलाइन्स के अनुसार समस्त परिसम्पत्तियों को जिओ टैग कर भारत सरकार की वेेबसाइट ओमास पर अपलोड किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कैंडीडेट रोड के प्रत्येक कि0मी0 पर पी0सी0आई0 की इन्ट्री तथा प्रत्येक कि0मी0 में मार्ग के पेवमेन्ट कण्डीशन इन्डेक्स की 2 फोटो भी अपलोड करें।

Check Also

“BEHIND THE SMOKE-SCREEN”: a book on Emergence of the National War Academy

This book running into 219 pages, authored by noted chronicler and researcher Tejakar Jha and ...