Home / Slider / IMSCON-2024 में एंटी एजिंग मैनेजमेंट व जींस व मीनोपॉज पर व्याख्यान

IMSCON-2024 में एंटी एजिंग मैनेजमेंट व जींस व मीनोपॉज पर व्याख्यान

29 वीं राष्ट्रीय कांफ्रेंस (IMSCON-2024) में एंटी एजिंग मैनेजमेंट व जींस व मीनोपॉज पर रोचक व्याख्यान

एजिंग अब समस्या नहीं, हो सकता है इसका सही प्रबंधन : डॉ वंदना बंसल

देश कई ख्यातिप्राप्त चिकित्सकों ने दूरबीन विधि से किये कई जटिल ऑपरेशन जिनका हुआ लाइव प्रसारण

इलाहाबाद मीनोपॉज सोसाइटी द्वारा आयोजित इंडियन मीनोपॉज सोसाइटी की 29वीं राष्ट्रीय कांफ्रेंस (IMSCON-2024) के दूसरे दिन कुछ बहुत ही रोचक व्याख्यान एंटी एजिंग प्रबंधन पर ऑर्गनाइजिंग चेयरपर्सन व जीवन ज्योति हॉस्पिटल की निदेशक डॉ वंदना बंसल व डॉ दुरु शाह ओरेशन जींस ‘मीनोपॉज व वेदांत’ पर डॉ रत्नाबली चक्रवर्ती द्वारा इलाहाबाद मेडिकल एसोसिएशन कन्वेंशन सेंटर में देश के विभिन्न शहरों से आये चिकिसकों की उपस्थिति में शनिवार 24 फरवरी को दिए गए। कई नामी जैसे डॉ जयदीप मल्होत्रा , डॉ सी अम्बुजा , डॉ शोभना मोहनदास द्वारा हॉर्मोन थेरेपी , मीनोपॉज की जटिलताएं बा निदान पर चर्चा की।

ऑर्गनाइजिंग सेक्रेटरी डॉ अंजुला सहाय व डॉ रागिनी मल्होत्रा ने मीनोपॉज से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण लक्षणों पर विशेष सत्र किया।

अपने व्याख्यान में डॉ वंदना बंसल ने बताया कि यदि शरीर में व्याधि हो , आंख व चलने फिरने आदि में समस्या आ रहो हो तो बढ़ती उम्र समस्या बन जाती है। इसीलिए यह बहुत जरुरी हो जाता है की हम सही ढंग से अपनी उम्र को जियें। विश्व स्वास्थ्य संगठन की इंटरनेशनल डिजीज कोडेबूक के अनुसार एजिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसको ट्रीट किया जा सकता है। विभिन्न डाटा यह दर्शाते हैं की पिछले 6 दशक में 60 वर्ष से ऊपर लोगों की संख्या आठ से दस परसेंट बढ़ गयी है। ऐसा अनुमान है की 2050 तक विश्व में नौ मिलियन लोगों की उम्र 60 वर्ष से ऊपर होगी। उम्र बढ़ने के साथ लोगों में हृदय , रक्तचाप , शुगर , हड्डी , गठिया , आंख, थाइरोइड आदि की समस्या होने लगती है।

इन सबसे बचाव के लिए सभी को 6 स्वास्थ सम्बन्धी सूत्रों को अपनाना चाहिए। यह हैं सही खान पान व सही वजन , सही व्यायाम , मदिरा सेवन व धूम्रपान पर नियंत्रण , तनाव का स्तर कम करना व नियमित स्वास्थ की जांच। यदि शुरू से ही सही आदतों को अपनाया जाए तो यह हमे शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रखने में काफी सहायक होता है।

बढ़ती उम्र में योग प्राणायम के आलावा पूरी नींद भी लेनी चाहिए। महिलाओं को 40 की उम्र के बाद नियमित हेल्थ स्क्रीनिंग करवा चाहिए जिसमे पल्स , ब्लड प्रेशर, शुगर , गयनेकोलॉजिकल समस्याएं , लिवर व किडनी , थाइरोइड , कैंसर , मैमोग्राफी आदि की जांच सम्मिलित हो। “इसके आलावा एंटी एजिंग डाइट भी ले सकते हैं। जिसका उद्देशय सिर्फ वजन कम करना नहीं बल्कि सही पोषण देना होता है। जीवन में कुछ अच्छे शौक भी अपनाना चाहिए। “
डॉ अंजू सोनी इंडियन मीनोपॉज सोसाइटी की प्रेजिडेंट इलेक्ट ने बताया की भारत में 15 करोड़ महिलएं मीनोपॉज के किसी एक स्टेज में हैं व इसके बारे में उनको जानकारी बहुत कम है।

Sessions on Anti Aging, Genes Menopause and Vedanta Marks the Day-2 of IMSCON-2024

Aging a condition that is Manageable: Dr Vandana Bansal

Prayagraj: 24 February 2024:

The Day-2 of 29th National Conference of Indian Menopause Society (IMS) ‘IMSCON-2024’ in Prayagraj on the theme :NO;PAUSE (A NEW INNING): Health-Happiness-Harmony witnessed some interesting sessions on the most discussed topics like Holistic Management of Anti Aging by Organizing Chairperson and Director of Jeevan Jyoti Hospital Dr Vandana Bansal, who’s also an Aesthetic Gynaecologist, ‘Dr Duru Shah Oration’ on The Genes, Menopause and the Vedanta by Dr Ratnabali Chakravorty. Different sessions on hormone therapy, menopausal complications were conducted by Dr Jaideep Malhotra, Dr C Ambuja, Dr Shobhana Mohandas, and organizing secretary Dr Anjula Sahai and Dr Ragini Agarwal on various menopausal symptoms ‘Genitourinary syndrome of menopause (GSM)’ were another highlight of the second day of the three-day conference at AMA Convention Centre on Saturday, February 24.

Addressing the gathering, Dr Vandana Bansal said living longer would not be desirable unless you stayed bright-eyed, on your toes, and free from disease throughout those extra years. That’s why it’s important to add life to years and not years to life “WHO in their international disease codebook, declared aging a treatable condition. Over the past 6 decades percentage of people aged 60 and above has increased by eight to 10%. By 2050, 20% of the world’s nine billion people are expected to be over 60 years old.”
Dr Bansal said the common diseases related to aging includes Heart problems, Hypertension, Stroke
Hormonal issue, Thyroid, Diabetes, Osteoporosis, Osteoarthritis, Rheumatoid arthritis etc.

To prevent or delay the onset on age related problems one should add six components of wellness, which includes proper weight and diet,(Calorie restriction & longevity), proper exercise, breaking the smoking habit, . control of alcohol, stress management and periodic exams and Vaccinations. Dr Bansal said one also need to adopt health Healthy lifestyle, as Healthy habits leads to healthy mind. Include Proper exercise yoga meditation and pranayama in your daily life. Have adequate sleep. Regular health checkups Screening is very important. Regular Health Screening test after 40 should include General examination
Pulse, BP, Heart, Lungs, Gynae checkup, Liver & Kidney function test, Thyroid profile, Lipid profile, BMI
Ultrasound of abdomen and pelvis, Pap’s smear, HPV, Mammography etc. “One can also go for Anti gaining diet. Anti-aging diet is not a diet in the sense that its objective is to make you loose weight. Anti-aging diet is actually a lifestyle of dietary habits that will lead you to longevity. It includes Calorie etc. “

Earlier, Dr Anju Soni, president elect of IMS said over 15 crore women in India belong to one or the other stages of menopause. It’s one of the most neglected areas of women’s health.
—————-

Check Also

“Advocate Mr Dinesh Kumar Misra and his family shall not be arrested”: HC

Prayagraj  “Till the next date of listing, petitioners advocate Mr Dinesh Kumar Misra and his ...