Monday , May 16 2022
Home / Slider / ईसीसी में *बौद्धिक संपदा* *अधिकार* *विषय पर राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन

ईसीसी में *बौद्धिक संपदा* *अधिकार* *विषय पर राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन

*ईसीसी में *बौद्धिक संपदा* *अधिकार* *विषय पर राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन**

आज दिनांक 7 मई 2022 को ईसीसी में
IQAC के तत्वाधान में ‘बौद्धिक संपदा अधिकार’ विषय पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन हुआ। उद्घाटन सत्र के मुख्य वक्ता इलाहाबाद विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्र विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष और नीति आयोग के चेयर प्रोफेसर प्रो मनमोहन कृष्ण ने बौद्धिक संपदा अधिकार के विकास के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए पेटेंट, कापीराइट आदि के तकनीकी पक्ष पर विस्तार से चर्चा की। प्रोफेसर मनमोहन कृष्ण ने बौद्धिक संपदा अधिकार के विभिन्न पहलुओं पर भी उदाहरण सहित प्रकाश डाला।


उद्घाटन सत्र में प्राचार्य डॉ ए. एस. मोजेज ने वक्ताओं तथा प्रतिभागियों का स्वागत किया। मुख्य अतिथि डॉ ललित इसूबियस ने सेमिनार की विषयवस्तु की प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला।सेमिनार के उप संयोजक डॉ जस्टिन मसीह नें प्रार्थना में प्रतिभागियों की अगुवाई की। मुख्य वक्ता का परिचय डा उमेश प्रताप सिंह ने दिया । कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर रामजी पाण्डेय ने किया।

दूसरे सत्र में वक्ता के रूप में केंद्रीय विश्वविद्यालय हरियाणा के लाइब्रेरी तथा सूचना विज्ञान विभाग के प्रोफेसर श्री राम पाण्डेय ने कॉपीराइट के साथ O E R तथा लाइसेंस के विभिन्न आयामों पर विस्तार से चर्चा की। प्रोफेसर पाण्डेय ने इंटरनेट पर उपलब्ध विभिन्न स्रोतों से सूचनाओं को प्रयोग करते समय बरती जाने वाली सावधानियों को विशेष रूप से चिन्हित किया।
तीसरे सत्र में वक्ता के रूप में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी एवं सूचना विज्ञान विभाग के प्रोफेसर रजनी मिश्रा ने पेटेंट के विभिन्न तकनीकी पहलुओं पर विस्तार से चर्चा की ।
चौथे सत्र में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के विधि विभाग के प्रोफेसर रजनीश कुमार सिंह ने कॉपीराइट तथा प्लेगेरिज्म पर व्याख्यान दिया ।


अंत में आइक्यूएसी ईसीसी के संयोजक डॉ अशोक कुमार पाठक ने सभी वक्ताओं, प्रतिभागियों तथा सेमिनार से जुड़े सभी सदस्यों को धन्यवाद ज्ञापित किया। इस कार्यक्रम में डॉक्टर अनिल शुक्ला, डॉक्टर सूरज, डॉक्टर प्रकाश सहित महाविद्यालय के अनेक शिक्षकों, शोध छात्रों एवं विद्यार्थियों ने भी हिस्सा लिया ।


इस सेमिनार का यूट्यूब चैनल पर भी सजीव प्रसारण किया गया। सेमिनार में देश के विभिन्न हिस्सों से 300 से अधिक लोगों ने प्रतिभाग किया।

Check Also

“आर्थिक स्वावलंबन के आयाम”: डॉ. दिलीप अग्निहोत्री

आर्थिक स्वावलंबन के आयाम डॉ. दिलीप अग्निहोत्री केंद्र व उत्तर प्रदेश की वर्तमान सरकारें लोगों ...