Home / Slider / कोटा में अध्ययनरत लगभग आठ हजार छात्र-छात्राओं को राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में वापस लाया गया

कोटा में अध्ययनरत लगभग आठ हजार छात्र-छात्राओं को राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में वापस लाया गया

आठ हजार छात्रों की वापसी योगी की उपलब्धि


डॉ दिलीप अग्निहोत्री

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना से मुकाबले के लिए व्यापक कार्ययोजना पर अमल कर रहे है। उनकी इस कार्ययोजना में दूसरे प्रदेश में फंसे उत्तर प्रदेश के लोगों की सकुशल वापसी भी शामिल है। उनका ध्यान इसपर भी है कि उनकी वजह से संक्रमण भी न फैले। इसलिए नियमानुसार उनकी भी जांच की जा रही है।

कुछ दिन पहले दिल्ली से बढ़ी संख्या में श्रमिक उत्तर प्रदेश की सीमा में आये थे। तब योगी ने रात भर जाग कर उनको सुरक्षित उनके घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था कराई थी।
एक बार फिर कोटा में अध्ययनरत लगभग आठ हजार छात्र-छात्राओं को राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में वापस लाया गया है। इन सभी के होम क्वारण्टीन की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। योगी ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि बाहर से आने वालों के मूवमेण्ट पर नजर रखते हुए व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। हर गांव व कस्बे में वाॅलण्टियर्स की सहायता से यह कार्य किया जाए।
बाहर से आए व्यक्ति को हर हाल में क्वारण्टीन किया जाएगा। मण्डी, बैंक,राशन व दवा की दुकान आदि पर भी सोशल डिस्टंसिंग सुनिश्चित करनी होगी।
मीडिया ब्रीफिंग शासन स्तर पर नियमित रूप से प्रतिदिन की जा रही है। यदि स्थानीय स्तर पर इसकी आवश्यकता होती है, तो सावधानी बरतते हुए पूरी तथ्यपरक जानकारी और तैयारी के साथ मीडिया को अवगत कराया जाए। योगी ने रमजान से संबंधित व्यवस्था पर भी ध्यान दिया है। उन्होने जिलाधिकारियों को इस संबन्ध में धर्मगुरुओं, मौलवियों व मौलानाओं से संवाद स्थापित करने का निर्देश दिया। सुनिश्चित किया जाए कि कहीं भी भीड़ एकत्रित न होने पाए। सभी धार्मिक कार्य घर से ही सम्पन्न किए जाएं। विचार विमर्श कर निर्णय लिए जाए। भीड़ व अराजकता की स्थिति न पैदा होने पाए। एक्सप्रेस वे हाईवे तथा अन्य निर्माण के सम्बन्ध में स्थानीय स्तर पर कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। किसानों को उनकी फसल का हर हाल में न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलना चाहिए।

शासन द्वारा किसानों की उपज को क्रय केन्द्रों के अलावा, उनके खेतों पर भी खरीदने की व्यवस्था की जाए। हाॅट स्पाॅट के साथ ही अन्य सभी स्थलों को व्यापक स्तर पर सैनेटाइज किया जाए। मार्च के अन्तिम दिनों में बाहर से प्रदेश में आए प्रवासी मजदूरों को भी उनके घरों में पहुंचाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। यह सभी क्वारण्टीन की अवधि पूर्ण कर चुके हैं किन्तु फिर भी उन्हें होम क्वारण्टीन किया जाए। गोवंश पर भी ध्यान देने के योगी ने निर्देश दिए है।

Check Also

Australian Veterans cricket team will be at Semmancheri

CUTS-South Asia:Bolstering India -Australia Defence Relations.On 21st February,2024 at 8.30am.YouTube Streaming or Scan the QR ...