Home / Slider / “उत्तर प्रदेश में पांचवें चरण का मतदान संपन्न”: एक विष्लेषण: डॉ धीरज कुमार

“उत्तर प्रदेश में पांचवें चरण का मतदान संपन्न”: एक विष्लेषण: डॉ धीरज कुमार

उत्तर प्रदेश में पांचवें चरण का मतदान संपन्न, उत्साहित दिखे मतदाता, कई वीआईपी सीटों पर बढ़ा मत प्रतिशत

डॉ धीरज कुमार

लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण के लिए सोमवार 20 मई को वोट डाले गएI शुरुआती दौर में जहां मत प्रतिशत में गिरावट देखी गई, चौथे और पांचवें चरण में वह गिरावट दूर हो गईI चौथे और पांचवें चरण में पिछले लोकसभा चुनाव की तुलना में मत प्रतिशत बराबर हो गयाI ऐसा भी देखा गया कि जहां पर कांटे का मुकाबला है या कोई बड़ा नेता मैदान में है, उन सीटों पर मत प्रतिशत पिछले चुनाव की तुलना में बढ़ गयाI चौथे चरण में कन्नौज(जहां से पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव चुनाव लड़ रहे हैं) और खीरी (जहां से केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र चुनाव लड़ रहे हैं) लोकसभा क्षेत्र में मत प्रतिशत बढ़ा हुआ नजर आयाI

पांचवें चरण में अमेठी (जहां से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी मैदान में हैं) रायबरेली (जहां से कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी मैदान में हैं), फतेहपुर (जहां से केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति), मोहनलालगंज (जहां से केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर मैदान में हैं), कैसरगंज (जहां से बृजभूषण शरण सिंह के पुत्र करण भूषण सिंह मैदान में हैं) तथा बाराबंकी (जहां से कांग्रेस के दिग्गज दलित नेता पी एल पुनिया के पुत्र तनुज पुनिया मैदान में हैं) में मत प्रतिशत पिछले चुनाव की तुलना में बढ़ा हुआ नजर आयाI जो इन लोकसभा क्षेत्र में दिलचस्प मुकाबले की ओर इशारा कर रहा है और बड़े-बड़े दिग्गज नेताओं की सीट भी फसी हुई नजर आ रही हैI

पांचवें चरण तक आते-आते चुनावी सरगर्मियां काफी तेज हो गई हैंI मतदाता काफी उत्साहित नजर आ रहे हैंI सत्ताधारी व विपक्षी दल जातीय व सांप्रदायिक मुद्दों को हवा दे रहे हैं तथा जाति व सांप्रदायिक ध्रुवीकरण के आधार पर जीतने का प्रयास कर रहे हैंI सत्ताधारी दल के लिए जहां मुख्य मुद्दा विकास, मुस्लिम आरक्षण का विरोध, राम मंदिर निर्माण, धारा 370 को हटाना, ट्रिपल तलाक को हटाना, नागरिकता संशोधन क़ानून को लागू करना, बढ़ती अर्थव्यवस्था, भारत की अंतरराष्ट्रीय पहचान, कानून व्यवस्था, सुरक्षा, विभिन्न लोक कल्याणकारी योजनाएं आदि रहा, वहीं दूसरी ओर विपक्ष ने महंगाई, बेरोजगारी, जाति आधारित जनगणना, पिछड़ों का प्रतिनिधित्व, लोकतंत्र व संविधान की रक्षा आदि को मुद्दा बनायाI यह चुनाव अब काफी दिलचस्प मोड़ पर आ चुका हैI सत्ताधारी दल का दावा है कि वह 400 सीटें जीतने जा रही है जबकि विपक्ष का दावा है कि भारतीय जनता पार्टी सत्ता भी प्राप्त नहीं कर पाएगीI

यदि हम 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की बात करें तो उस समय भी विपक्ष की ओर से कुछ ऐसा ही दावा किया जा रहा था कि समाजवादी पार्टी सत्ता में वापसी कर रही है, लेकिन ऐसा कुछ हुआ नहींI हालांकि समाजवादी पार्टी ने 2017 के विधानसभा चुनाव में प्राप्त 22% मतों की तुलना में 2022 के विधानसभा चुनाव में 10% मतों का इजाफा करते हुए लगभग 32% मत प्राप्त किया, किंतु 111 सीटें जीत सकी तथा सत्ता से काफी दूर रहीI ही जबकि भारतीय जनता पार्टी ने 2017 के विधानसभा चुनाव में प्राप्त 39.67 % मतों(312 सीट) की तुलना में 2022 के चुनाव में 41.29% (1.5% प्रतिशत अधिक) मत प्राप्त किया तथा 255 सीटें जीतने में सफल रहीI 2022 के इस चुनाव में 2017 के विधानसभा चुनाव की तुलना में बहुजन समाज पार्टी का मत प्रतिशत 9.35% गिरकर, 12.88% रह गया, जबकि कांग्रेस का मत प्रतिशत 3.92% गिरकर, 2.33% ही रह गयाI इससे स्पष्ट है कि विपक्षी मतों का बड़े पैमाने पर ध्रुवीकरण हुआ जिसका लाभ समाजवादी पार्टी को मिला, फिर भी वह सत्ता से काफी दूर रहीI

कुछ ऐसी ही परिस्थितियों पिछले लोकसभा चुनाव में भी रही,I बहुजन समाज पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के साथ महागठबंधन में चुनाव लड़ रही थी तथा बहुजन समाज पार्टी को 19.43% मत प्राप्त हुआ था तथा 10 सीटें जीतने में सफल रही थी जो की 2014 के लोकसभा चुनाव में प्राप्त 0 सीट की अपेक्षा संतोषजनक थीI किंतु समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के मत प्रतिशत में 2014 की तुलना में कोई विशेष अंतर नहीं आयाI बल्कि समाजवादी पार्टी के 2014 लोकसभा चुनाव में प्राप्त मतों की तुलना में मत प्रतिशत में 4.5% की गिरावट ही दर्ज की गईI हालांकि 2014 की ही तरह 2019 के लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी 5 सीटें जीतने में सफल रहीI कांग्रेस को 2019 के लोकसभा चुनाव में 6.36 % मत प्राप्त हुएI

यदि 2024 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो कमोबेश कुछ कुछ ऐसी ही परिस्थितियों इस चुनाव में भी स्पष्ट नजर आती हैंI इस चुनाव में बहुजन समाज पार्टी, इंडिया महागठबंधन(सपा+कांग्रेस) का हिस्सा नहीं हैI इस चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के मतों में पिछले लोकसभा चुनाव की तुलना में लगभग 10 प्रतिशत मतों की कमी आने की संभावना हैI इसका सीधा लाभ इंडिया गठबंधन को मिलना तय माना जा रहा हैI विपक्षी मतों के इंडिया गठबंधन की तरफ ध्रुवीकरण की स्थिति में समाजवादी पार्टी द्वारा 2019 में प्राप्त 18.11% मत, कांग्रेस पार्टी द्वारा 2019 में प्राप्त 6.36% मत तथा बहुजन समाज पार्टी के मतों में बड़ी गिरावट की स्थिति में लगभग 10 प्रतिशत मतों को यदि इंडिया गठबंधन में जोड़ दिया जाए तो लगभग 34-35% मत इंडिया गठबंधन को मिलने की संभावना हैI जबकि भारतीय जनता पार्टी को विगत 2019 के लोकसभा चुनाव में प्राप्त 50% मतों की तुलना में लगभग उतने ही मत मिलने की संभावना हैI भारतीय जनता पार्टी का मत प्रतिशत एक दो प्रतिशत बढ़ भी सकता है जैसा की 2017 के विधानसभा चुनाव से 2022 के विधानसभा चुनाव में दी ध्रुवीय चुनाव होने की स्थिति में हुआ थाI यही कारण है कि इस चुनाव के पांचवें चरण तक आते-आते गहमागहमी काफी बढ़ गई हैI हालांकि इंडिया गठबंधन के द्वारा 34-35 प्रतिशत मतों को प्राप्त करने की स्थिति में वह सीटों में कितना परिवर्तित हो पता है यह देखना होगाI भारतीय जनता पार्टी वर्ष 2019 की तुलना में अपना मत प्रतिशत 50% बनाये रख पाती है या नहीं, यह देखना होगाI उसे कितना फायदा या नुकसान होगा यह तो चुनाव के नतीजे ही बताएंगे, लेकिन 15% मतों के अंतर की स्थिति में इंडिया इंडिया गठबंधन उत्तर प्रदेश में कोई बहुत बड़ा उलटफेर करने की स्थिति में नजर नहीं आता हैI ऐसी स्थिति में भारतीय जनता पार्टी की सीटें पिछले चुनाव की तुलना में बढ़ना लगभग तय माना जा रहा हैI

अब यदि हम पांचवें चरण की बात करें तो इस चरण में अवध और बुंदेलखंड की जिन 14 सीटों पर वोट डाले गए वह सीटें हैं लखनऊ, मोहनलालगंज (सुरक्षित), रायबरेली, अमेठी, कैसरगंज, गोंडा, बाराबंकी (सुरक्षित), बांदा, हमीरपुर, जालौन, झांसी, फतेहपुर और कौशांबी (सुरक्षित)I

लखनऊ लोकसभा क्षेत्र

यदि 2019 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो इस लोकसभा क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के राजनाथ सिंह (केंद्रीय रक्षा मंत्री) ने महागठबंधन (सपा+बसपा) की पूनम सिन्हा को 330000 मतों के बड़े अंतर से हराया थाI इसके पूर्व 2014 में भी राजनाथ सिंह ने एक बड़ी जीत दर्ज की थीI 2009 के लोकसभा चुनाव में अटल बिहारी वाजपेई के निधन के कारण खाली हुई इस लखनऊ लोकसभा सीट पर लालजी टंडन ने कांग्रेस की प्रो. रीता बहुगुणा जोशी को 40000 वोटो के अंतर से हराया थाI हालांकि लाल जी टंडन का भी बाद में निधन हो गया थाI

2024 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने पुनः राजनाथ सिंह को मैदान में उतारा हैI यह सीट भाजपा के लिए काफी सुरक्षित सीट मानी जाती हैI इंडिया गठबंधन (सपा+कांग्रेस) ने समाजवादी पार्टी के रविदास मेहरोत्रा को टिकट दिया है, जबकि बहुजन समाज पार्टी की ओर से मोहम्मद सरवर मलिक चुनाव लड़ रहे हैंI

मोहनलालगंज (सुरक्षित) लोकसभा क्षेत्र

यदि 2019 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो यहां पर भारतीय जनता पार्टी के कौशल किशोर ने 609999 मत प्राप्त कर महागठबंधन (सपा+बसपा) के संयुक्त प्रत्याशी सी एल वर्मा (सपा) को 70000 मतों से हराया थाI यदि 2014 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो इस चुनाव में भी भारतीय जनता पार्टी के कौशल किशोर ने बहुजन समाज पार्टी के आर के चौधरी को लगभग डेढ़ लाख मतों से हराया थाI कौशल किशोर को 455274 में प्राप्त हुए थे, जबकि आर चौधरी को 309858 मत प्राप्त हुए थेI 242366 मत प्राप्त कर समाजवादी पार्टी की सुशीला सरोज तीसरे स्थान पर रही थीI

इसके पूर्व 2009 के लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की सुशीला सरोज ने 256367 में प्राप्त कर बहुजन समाज पार्टी के जयप्रकाश को लगभग 85000 मतों के अंतर से हराया थाI जयप्रकाश को 179772 मत मिले थेI जबकि भारतीय जनता पार्टी के रंजन कुमार चौधरी को 82435 मत प्राप्त हुए थेI इस चुनाव में आरएसबीपी की ओर से आर चौधरी भी मैदान में थे, जिन्हें 144341 मत प्राप्त हुए थेI
इस बार 2024 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने पुनः केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर को मैदान में उतारा हैI इंडिया गठबंधन (सपा+कांग्रेस) की ओर से समाजवादी पार्टी के आर के चौधरी मैदान में हैI बहुजन समाज पार्टी ने राजेश कुमार को मैदान में उतारा हैI भारतीय जनता पार्टी इस सीट पर बढ़त में है, क्योंकि विपक्षी मतों का बिखराव होने की स्थितियां यहां पर भी हैI

रायबरेली लोकसभा क्षेत्र

यदि 2019 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो यहां से कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 534918 मत प्राप्त कर भारतीय जनता पार्टी के दिनेश प्रताप सिंह को 65000 मतों के अंतर से हराया थाI दिनेश प्रताप सिंह को 367740 मत प्राप्त हुए थेI महागठबंधन ने यहां अपना प्रत्याशी नहीं उतरा थाI 2014 व 2009 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो यहां से दोनों बार सोनिया गांधी ने बड़ी जीत दर्ज की थीI


यदि वर्तमान 2024 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो भारतीय जनता पार्टी ने जहां दिनेश प्रताप सिंह को पुनः अपना प्रत्याशी बनाया है, वहीं इंडिया गठबंधन (सपा+कांग्रेस) ने स्वास्थ्य कारणों से सोनिया गांधी द्वारा चुनाव न लड़े जाने की स्थिति में अंतिम समय पर राहुल गांधी को अपना प्रत्याशी बनाया है I बहुजन समाज पार्टी की ओर से ठाकुर प्रसाद यादव मैदान में हैंI यहां मुकाबला दिलचस्प हैI इस लोकसभा के अंतर्गत आने वाली ऊंचाहार विधानसभा के समाजवादी पार्टी के विधायक मनोज पांडे ने पाला बदलते हुए भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया हैI वहीं 2021 में रायबरेली सदर विधानसभा क्षेत्र की विधायक अदिति सिंह ने भी भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया था तथा 2022 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी के तौर में पुनः सफलता प्राप्त की थीI मत प्रतिशत में पिछले चुनाव की तुलना में दो प्रतिशत की अभिवृद्धि इस बात का संकेत है कि इस बार इस लोकसभा में राहुल गांधी व दिनेश प्रताप सिंह के बीच में कड़ा मुकाबला हैI

अमेठी लोकसभा क्षेत्र

यदि 2019 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो यहां भारतीय जनता पार्टी की स्मृति ईरानी ने 468514 मत प्राप्त कर कांग्रेस के राहुल गांधी को 55000 मतों के अंतर से हरा दिया थाI राहुल गांधी को चार 413394 मत प्राप्त हुए थेI महागठबंधन ने अपना प्रत्याशी नहीं उतरा थाI 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के राहुल गांधी ने 408651 मत प्राप्त कर भारतीय जनता पार्टी की स्मृति ईरानी को लगभग 108000 मतों से हरा दिया थाI स्मृति ईरानी को 300748 मत प्राप्त हुए थेI बहुजन समाज पार्टी के धर्मेंद्र प्रताप सिंह 57716 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर थेI 2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के राहुल गांधी ने 464195 मत प्राप्त कर बहुजन समाज पार्टी के आशीष शुक्ला को 375000 मतों के बड़े अंतर से हराया थाI आशीष शुक्ला को 93997 मत प्राप्त हुए थे, जबकि भाजपा के प्रदीप कुमार सिंह को 37570 मत प्राप्त हुए थेI

इस बार 2024 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने पुनः केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को अपना प्रत्याशी बनाया हैI वहीं इंडिया गठबंधन (सपा+कांग्रेस) ने सोनिया गांधी के राजनीतिक सहयोगी रहे के एल शर्मा(कांग्रेस) को मैदान में उतारा हैI कांग्रेस पुनः राहुल गांधी को लेकर जोखिम नहीं लेना चाहती थी, इसलिए उन्हें बीच का रास्ता निकालते हुए अपेक्षाकृत सुरक्षित सीट रायबरेली पर उतारा गया है, जहां से सोनिया गांधी लगातार कई बार जीत चुकी हैंI बहुजन समाज पार्टी से नन्हे सिंह चौहान मैदान में हैI अमेठी में भाजपा मजबूत स्थिति में हैI

बाराबंकी (सुरक्षित) लोकसभा क्षेत्र

यदि 2019 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो यहां से भारतीय जनता पार्टी के उपेंद्र सिंह रावत ने 535917 मत प्राप्त कर महागठबंधन (सपा+बसपा) के संयुक्त प्रत्याशी रामसागर रावत(सपा) को 110000 मतों के बड़े अंतर से हराया थाI इस चुनाव में कांग्रेस के कद्दावर दलित नेता पीएल पुनिया के पुत्र तनुज पुनिया को 159611 मत प्राप्त हुए थे तथा वह तीसरे स्थान पर रहे थेI इसके पूर्व 2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की प्रियंका सिंह रावत ने 454214 मत प्राप्त कर कांग्रेस के पीएल पुनिया को 2 लाख मतों के बड़े अंतर से हराया थाI कांग्रेस के पीएल पुनिया को 242336 मत प्राप्त हुए थेI बहुजन समाज पार्टी की कमला प्रसाद रावत को 177150 मत तथा समाजवादी पार्टी की राजरानी रावत को 179284 में प्राप्त हुए थेI इसके पूर्व 2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के पीएल पुनिया ने 328418 मत प्राप्त कर समाजवादी पार्टी के रामसागर रावत को 168000 मतों के बड़े अंतर से हराया थाI रामसागर रावत को 160505 मत तथा बहुजन समाज पार्टी की कमला प्रसाद रावत को 159837 मत प्राप्त हुए थेI भाजपा के रामनरेश रावत 47660 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI

2024 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने समाजवादी पार्टी से आई राजरानी रावत को मैदान में उतारा है, वहीं इंडिया गठबंधन (सपा+कांग्रेस) की ओर से कांग्रेस के तनुज पुनिया मैदान में हैंI बहुजन समाज पार्टी ने शिवकुमार दोहरी को प्रत्याशी बनाया हैI यहां भारतीय जनता पार्टी काफी मजबूत स्थिति में है और मतदान के दौरान 2019 के चुनाव की तुलना में इस बार 4% मत में अभिवृद्धि को इस सीट पर दिलचस्प मुकाबले के रूप में देखा जा रहा हैI

कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र

यदि 2019 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी के बृजभूषण शरण सिंह ने 581358 मत प्राप्त कर महागठबंधन (सपा+बसपा) के चंद्रदेव राम यादव (बसपा) को 260000 मतों के बड़े अंतर से शिकायत दी थीI चंद्रदेव राम यादव को 319757 में प्राप्त हुए थे, जबकि 37132 मत प्राप्त कर कांग्रेस के विनय कुमार पांडे तीसरे स्थान पर रहे थेI

यदि 2014 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो भारतीय जनता पार्टी के बृजभूषण शरण सिंह ने 381500 मत प्राप्त कर समाजवादी पार्टी के विनोद कुमार को लगभग 80 हजार मतों के अंतर से हराया थाI विनोद कुमार को 303282 मत प्राप्त हुए थे, जबकि बहुजन समाज पार्टी के कृष्ण कुमार ओझा को 146726 मत प्राप्त हुए थेI कांग्रेस के मुकेश श्रीवास्तव 57401 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI 2009 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो समाजवादी पार्टी के बृजभूषण शरण सिंह ने 196063 मत प्राप्त कर बसपा के सुरेंद्रनाथ अवस्थी को 75000 मतों से हराया थाI सुरेंद्रनाथ अवस्थी को 123864 में प्राप्त हुए थेI भाजपा के डॉक्टर लालता प्रसाद मिश्र को 120561 मत प्राप्त हुए थेI कांग्रेस के मो अलीम 73140 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI

यदि 2024 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी ने विवादों में रहे बृजभूषण शरण सिंह की जगह उनके पुत्र करण भूषण सिंह को मैदान में उतारा हैI इंडिया गठबंधन (सपा+कांग्रेस) की ओर से भगत राम(सपा) को उम्मीदवार बनाया गया हैI बहुजन समाज पार्टी ने नरेंद्र पांडे को टिकट दिया हैI इस सीट पर भाजपा काफी मजबूत स्थिति में हैI

फैजाबाद लोकसभा क्षेत्र

यदि 2019 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो यहां से भाजपा के लल्लू सिंह ने 529021 मत प्राप्त कर महागठबंधन(सपा+बसपा) के संयुक्त प्रत्याशी आनंद सेन(सपा) को 64000 मतों से हरा दिया थाI आनंद सेन को 463544 मत प्राप्त हुए थे, जबकि कांग्रेस के निर्मल खत्री 53386 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर रहे थेI यदि 2014 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी के लल्लू सिंह ने 491761 मत प्राप्त कर समाजवादी पार्टी के मित्रसेन यादव को लगभग 280000 मतों से हरा दिया थाI मित्रसेन को 28986 मत प्राप्त हुए थे, जबकि बहुजन समाज पार्टी के जितेंद्र कुमार सिंह 141827 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर रहे थेI कांग्रेस के निर्मल खत्री 129917 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर थेI 2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के निर्मल खत्री ने 211543 मत प्राप्त कर समाजवादी पार्टी के मित्रसेन यादव को लगभग 55000 मतों के अंतर से हराया थाI मित्रसेन यादव को 157315 मत प्राप्त हुए थे, जबकि भाजपा के लल्लू सिंह को 151558 मत प्राप्त हुए थेI बहुजन समाज पार्टी के विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र 135709 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI

इस 2024 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने पुनः लल्लू सिंह पर भरोसा जताया हैI इंडिया गठबंधन(सपा+कांग्रेस) की ओर से अवधेश प्रसाद(सपा) मैदान में हैंI बहुजन समाज पार्टी ने सच्चिदानंद पांडे को टिकट देकर चुनाव को त्रिकोणी बनाने का प्रयास किया हैI राम मंदिर निर्माण के चलते भाजपा इस लोक सभा क्षेत्र में बढ़त की स्थिति में हैI

गोंडा लोकसभा क्षेत्र

2019 के लोकसभा चुनाव में यहां से भारतीय जनता पार्टी के कीर्ति वर्धन सिंह ने 508190 मत प्राप्त कर महागठबंधन (सपा+बसपा) के संयुक्त प्रत्याशी विनोद कुमार(सपा) को 170000 मतों के बड़े अंतर से हराया थाI विनोद कुमार को 341830 मत प्राप्त हुए थेI जबकि कांग्रेस की कृष्णा पटेल को 25686 मत प्राप्त हुए थेI 2014 के लोकसभा चुनाव में भी भारतीय जनता पार्टी के कीर्ति वर्धन सिंह ने 359639 मत प्राप्त कर समाजवादी पार्टी की नंदिता शुक्ला को 160000 मतों के बड़े अंतर से हराया थाI नंदिता शुक्ला को 199227 मत प्राप्त हुए थे, जबकि बहुजन समाज पार्टी के अकबर अहमद डंपी को 116178 में प्राप्त हुए थेI कांग्रेस के बेनी प्रसाद वर्मा 102254 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI 2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के बेनी प्रसाद वर्मा ने 155675 मत प्राप्त कर बहुजन समाज पार्टी के कीर्ति वर्धन सिंह को 23000 मतों से हरा दिया थाI कीर्ति वर्धन सिंह को 132000 मत प्राप्त हुए थे, जबकि भारतीय जनता पार्टी के राम प्रताप सिंह 90498 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर व समाजवादी पार्टी के विनोद कुमार 88558 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI

2024 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने पुनः कीर्ति वर्धन सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया हैI इंडिया गठबंधन (सपा+कांग्रेस) की ओर से श्रेया वर्मा (सपा) मैदान में हैंI बहुजन समाज पार्टी ने सौरभ को अपना प्रत्याशी बनाया हैI यहां भी भारतीय जनता पार्टी काफी मजबूत स्थिति में हैI

झांसी लोकसभा क्षेत्र

2019 लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के अनुराग शर्मा ने 809272 मत प्राप्त कर महागठबंधन(सपा+बसपा) के संयुक्त प्रत्याशी श्याम सुंदर सिंह(सपा) को 365000 मतों के बड़े अंतर से हराया थाI श्यामसुंदर सिंह को 443589 मत प्राप्त हुए थे, जबकि कांग्रेस के शिवशरण 86139 में प्राप्त कर तीसरे स्थान पर रहे थेI 2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की उमा भारती ने 575889 मत प्राप्त कर समाजवादी पार्टी के चंद्रपाल सिंह यादव को 190000 मतों के बड़े अंतर से हराया थाI बहुजन समाज पार्टी की अनुराधा शर्मा 213792 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर तथा कांग्रेस के प्रदीप जैन आदित्य 84089 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI

2009 के लोकसभा चुनाव में यहां कांग्रेस के प्रदीप जैन आदित्य ने 252712 मत प्राप्त कर बहुजन समाज पार्टी के रमेश कुमार शर्मा को लगभग 50000 मतों के अंतर से हराया थाI रमेश कुमार शर्मा को 205022 मत प्राप्त हुए थे, जबकि चंद्रपाल सिंह यादव 132076 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर, व भारतीय जनता पार्टी के रवींद्र शुक्ला 79724 में प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI
यदि 2024 के इस चुनाव की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी ने पुनः अनुराग शर्मा को अपना प्रत्याशी बनाया है, जबकि इंडिया गठबंधन (सपा+कांग्रेस) ने प्रदीप जैन आदित्य(कांग्रेस) को अपना प्रत्याशी घोषित किया हैI बहुजन समाज पार्टी से रवि प्रकाश मैदान में हैंI यहां भाजपा काफी मजबूत स्थिति में हैI

जालौन लोकसभा क्षेत्र

यदि 2019 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो यहां से भारतीय जनता पार्टी के भानु प्रताप सिंह वर्मा ने 581763 में प्राप्त कर महागठबंधन(सपा+बसपा) के संयुक्त प्रत्याशी अजय सिंह (बसपा) को 160000 मतों के बड़े अंतर से हराया थाI अजय सिंह को 423386 मत प्राप्त हुए थे, जबकि कांग्रेस के बृजलाल खबरी को 89606 में प्राप्त हुए थेI 2014 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी के भानु प्रताप सिंह वर्मा ने 548631 मत प्राप्त कर बहुजन समाज पार्टी के बृजलाल खबरी को 290000 के बड़े अंतर से हराया थाI बृजलाल खबरी को 261429 मत प्राप्त हुए थे, जबकि समाजवादी पार्टी के घनश्याम अनुरागी को 180921 मत प्राप्त हुए थेI कांग्रेस के विजय चौधरी 82903 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI यदि 2009 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो समाजवादी पार्टी के घनश्याम अनुरागी ने 283023 मत प्राप्त कर बहुजन समाज पार्टी के तिलकचंद अहिरवार को लगभग 12000 मतों से हराया थाI तिलक चंद्र अहिरवार को 271614 मत प्राप्त हुए थेI भारतीय जनता पार्टी के भानु प्रताप सिंह वर्मा 131259 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर, जबकि कांग्रेस के डॉ बाबू रामदीन अहिरवार 77459 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर थेI

यदि 2024 के वर्तमान चुनाव की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी ने पुनः भानु प्रताप सिंह वर्मा पर अपना भरोसा जताया हैI इंडिया गठबंधन ने नारायण दास अहिरवार (सपा) को अपना प्रत्याशी बनाया है, जबकि बहुजन समाज पार्टी की ओर से सुरेश चंद्र गौतम मैदान में हैंI यहां भी भारतीय जनता पार्टी काफी मजबूत स्थिति में हैI

हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र

यदि 2019 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो इस क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के कुमार पुष्पेंद्र सिंह चंदेल ने 575122 मत प्राप्त कर महागठबंधन (सपा+बसपा) के संयुक्त प्रत्याशी दिलीप कुमार सिंह (बसपा) को ढाई लाख मतों के बड़े अंतर से हराया थाI दिलीप कुमार सिंह को 326470 मत प्राप्त हुए थे, जबकि कांग्रेस के प्रीतम सिंह लोधी किसान को 114534 मत प्राप्त हुए थेI यदि 2014 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो यहां से भारतीय जनता पार्टी के कुमार पुष्पेंद्र सिंह चंदेल ने 453884 मत प्राप्त कर समाजवादी पार्टी के विशंभर प्रसाद निषाद को 266000 मतों के बड़े अंतर से हराया थाI विशंभर प्रसाद निषाद को 187096 मत प्राप्त हुए थे, जबकि बहुजन समाज पार्टी के राकेश कुमार गोस्वामी 176356 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर रहे थेI कांग्रेस के प्रीतम सिंह लोधी किसान को 78229 मत प्राप्त हुए थेI यदि 2009 का लोकसभा चुनाव देखें तो यहां से बहुजन समाज पार्टी के विजय बहादुर सिंह ने 199143 मत प्राप्त कर कांग्रेस के सिद्ध गोपाल साहू को 25000 मतों से हराया थाI सिद्ध गोपाल साहू को 173641 मत प्राप्त हुए थेI इस चुनाव में समाजवादी पार्टी के अशोक कुमार सिंह चंदेल 165938 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर जबकि भारतीय जनता पार्टी के प्रीतम सिंह लोधी किसान 138692 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI

यदि 2024 के इस लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी ने कुमार पुष्पेंद्र सिंह चंदेल को पुनः प्रत्याशी बनाया है, जबकि इंडिया गठबंधन की ओर से अजेंद्र सिंह लोधी (सपा) मैदान में हैंI बहुजन समाज पार्टी ने निर्दोष कुमार दीक्षित पर भरोसा जताया हैI यहां भी भारतीय जनता पार्टी काफी मजबूत स्थिति में हैI

बांदा लोकसभा क्षेत्र

बांदा में 2019 लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के आर के सिंह पटेल ने 477926 में प्राप्त कर महागठबंधन के श्यामा चरण गुप्त (सपा) को 60000 मतों के अंतर से हराया थाI श्यामा चरण को 418988 मत प्राप्त हुए थे, जबकि कांग्रेस के बालकुमार पटेल को 75438 मत प्राप्त हुए थेI

2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के भैरव प्रसाद मिश्र ने 342066 मत प्राप्त कर बहुजन समाज पार्टी के आर के सिंह पटेल को 120000 मतों के अंतर से हराया थाI आरके सिंह पटेल को 226278 मत प्राप्त हुए थेI इस चुनाव में समाजवादी पार्टी के बाल कुमार पटेल 189730 मत प्राप्त का तीसरे स्थान पर रहे थेI जबकि कांग्रेस के विवेक कुमार सिंह 36650 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI 2009 के लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के आर के सिंह पटेल ने 240948 मत प्राप्त कर बहुजन समाज पार्टी के भैरव प्रसाद मिश्र को लगभग 35000 मतों से हरा दिया थाI भैरव प्रसाद को 206355 मत प्राप्त हुए थेI भाजपा की अमिता बाजपेई 85587 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर, जबकि कांग्रेस के भगवान दिन गर्ग 38571 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI

यदि 2024 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी ने पुनः आरके सिंह पटेल को अपना प्रत्याशी बनाया हैI इंडिया गठबंधन ने समाजवादी पार्टी की कृष्णा देवी को अपना उम्मीदवार घोषित किया है, जबकि बसपा की ओर से मयंक द्विवेदी मैदान में हैंI यहां भी भारतीय जनता पार्टी काफी मजबूत स्थिति में हैI

फतेहपुर लोकसभा क्षेत्र

2019 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की निरंजन ज्योति ने 566040 मत प्राप्त कर महागठबंधन के संयुक्त प्रत्याशी सुखदेव प्रसाद वर्मा (बीएसपी) को लगभग 2 लाख मतों के बड़े अंतर से हराया थाI सुखदेव प्रसाद वर्मा को 367835 मत प्राप्त हुए थे, जबकि कांग्रेस के राकेश सचान 66077 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर रहे थेI 2014 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो भारतीय जनता पार्टी की निरंजन ज्योति ने 485994 मत प्राप्त कर बहुजन समाज पार्टी के अफजल सिद्दीकी को लगभग 185000 मतों के बड़े अंतर से हराया थाI अफजल को 298788 मत प्राप्त हुए थेI समाजवादी पार्टी के राकेश सचान 1179724 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर, जबकि कांग्रेस की उषा मौर्य 46588 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रही थीI यदि 2009 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो यहां से समाजवादी पार्टी के राकेश सचान ने 218953 मत प्राप्त कर बहुजन समाज पार्टी के महेंद्र प्रसाद निषाद को लगभग 50000 मतों के अंतर से हराया थाI महेंद्र प्रसाद को 166725 मत प्राप्त हुए थेI भारतीय जनता पार्टी के राधेश्याम गुप्त 115712 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर, जबकि कांग्रेस के विभाकर शास्त्री 101553 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI

2024 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने पुनः केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति पर भरोसा जताया हैI इंडिया गठबंधन की ओर से नरेश उत्तम पटेल (सपा) मैदान में हैंI बहुजन समाज पार्टी ने मनीष सिंह सचान को उम्मीदवार बनाया हैI इस सीट पर भी भारतीय जनता पार्टी काफी मजबूत स्थिति में हैI

कौशांबी (सुरक्षित) लोकसभा क्षेत्र

2019 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के विनोद कुमार सोनकर ने 383009 मत प्राप्त कर महागठबंधन के संयुक्त प्रत्याशी इंद्रजीत सरोज (सपा) को लगभग 40000 मतों के अंतर से हराया थाI इंद्रजीत सरोज को 344287 मत प्राप्त हुए थेI इस चुनाव में लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली कुंडा विधानसभा के विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया के द्वारा गठित पार्टी जनसत्ता दल के द्वारा कौशांबी लोकसभा क्षेत्र में उतारे गए प्रत्याशी शैलेंद्र कुमार पासी 156406 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर रहे थेI कांग्रेस प्रत्याशी गिरीश पासी को 16442 मत प्राप्त हुए थेI यदि 2014 के लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी के विनोद कुमार सोनकर ने 331724 मत प्राप्त कर समाजवादी पार्टी के शैलेंद्र कुमार पासी को 43000 मतों के अंतर से हराया थाI शैलेंद्र को 288824 मत प्राप्त हुए थेI इस चुनाव में सुरेश पासी 201322 मत प्राप्त कर तीसरे स्थान पर व कांग्रेस के महेंद्र कुमार 31905 मत प्राप्त कर चौथे स्थान पर रहे थेI 2009 के लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के शैलेंद्र कुमार पासी ने 246501 मत प्राप्त बहुजन समाज पार्टी के गिरीश पारसी को लगभग 55000 मतों के अंतर से हराया थाI गिरीश पासी को 190712 मत, जबकि कांग्रेस के राम निहोर राकेश को 40765 मत व भाजपा के गौतम चौधरी को 30475 मत प्राप्त हुए थेI

यदि 2024 के इस लोकसभा चुनाव की बात की जाए तो राजा भैया का जनसत्ता दल भारतीय जनता पार्टी से गठबंधन करना चाहता था तथा वह इस सीट की मांग कर रहा थाI भारतीय जनता पार्टी ने गठबंधन न करते हुए पुनः विनोद कुमार सोनकर को अपना प्रत्याशी घोषित कर दियाI इंडिया गठबंधन ने पुष्पेंद्र सरोज (सपा) को अपना प्रत्याशी बनाया है तथा बहुजन समाज पार्टी की ओर से शुभ नारायण प्रत्याशी हैंI गठबंधन न होने की स्थिति में राजा भैया ने जनसत्ता दल का कोई भी प्रत्याशी नहीं उतरा तथा अपने समर्थकों की मीटिंग बुलाकर निर्णय लिया कि जो भी समर्थक जिसे वोट देना चाहे वह वोट दे सकता हैI हालांकि वोटिंग के दौरान राजा भैया ने यह कहा कि वर्तमान सांसद के खिलाफ सत्ता विरोधी रुझान है, लेकिन उन्होंने कहा कि मोदी के खिलाफ किसी प्रकार की कोई सत्ता विरोधी रुझान नहीं हैI राजा भैया के इस बयान को समाजवादी पार्टी के बैक डोर समर्थन के रूप में देखा जा रहा हैI हालांकि इस सीट पर भी भारतीय जनता पार्टी काफी मजबूत स्थिति में है और यह देखना दिलचस्प होगा कि ऊंट किस करवट बैठता हैI

डॉ धीरज कुमार लेखक राजनैतिक विश्लेषक एवं जनसंचार विभाग मिजोरम केंद्रीय विश्वविद्यालय में सहायक अध्यापक हैं MOB NO 7598015205 EMAIL ID [email protected]

Check Also

साहित्य अकादेमी का रामदरश मिश्र जन्मशती समारोह संपन्न

साहित्य अकादेमी द्वारा रामदरश मिश्र जन्मशती समारोह संपन्न उनकी कहानियों में मानवता के सच्चे सूत्र ...