Home / Slider / प्रोफेसरों की गिरफ्तारी पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

प्रोफेसरों की गिरफ्तारी पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के 4 प्रोफेसरों की गिरफ्तारी का मामला

आटा की मीटिंग में तमंचा निकालकर उन पर तान दिया था

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय के 4 प्रोफेसरों की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। इन चारों पर मारपीट, गाली-गलौज, जान से मारने की धमकी देने के अलावा एससी-एसटी ऐक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है। प्रोफेसर रामसेवक दुबे और अन्य ने याचिका दाखिल कर इस प्राथमिकी को चुनौती दी थी।
याचिका पर जस्टिस मनोज मिश्रा और जस्टिस दीपक वर्मा की पीठ ने सुनवाई की। याचियों का कहना था कि वे इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय के प्रोफेसर हैं। उनके खिलाफ शारीरिक शिक्षा विभाग के प्रफेसर डीसी लाल ने मुकदमा दर्ज कराया है। प्रफेसर लाल एससी-एसटी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कराने के आदी हैं। पहले भी वह दो मुकदमे अन्य लोगों के खिलाफ एससी-एसटी ऐक्ट के तहत दर्ज करा चुके हैं।
प्रोफेसर ने कहा कि उन्होंने (प्रोफेसर लाल ने) पहले तहरीर दी थी कि प्रोफेसर रामसेवक दुबे ने आटा की मीटिंग में तमंचा निकालकर उन पर तान दिया। बाद में तहरीर बदल दी कि प्रोफेसर दुबे, प्राचीन इतिहास के प्रोफेसर हर्ष कुमार, राजनीति विज्ञान विभाग के डॉ. पंकज कुमार और हिंदी के डॉक्टर राकेश सिंह ने उनको जान से मारने की धमकी दी। कोर्ट ने प्राथमिकी रद्द करने से इनकार करते हुए चारों की चार्जशीट दाखिल होने तक रोक लगा दी है।
इलाहाबाद विश्वविद्यालय में एक संकाय सदस्य ने शनिवार को चार वरिष्ठ प्राध्यापकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी।शिकायतकर्ता डी. सी. लाल शारीरिक शिक्षा विभाग के संकाय सदस्य हैं। प्राथमिकी में जिन चार प्राध्यापकों के नाम दर्ज किए गए हैं, उनमें रामसेवक दुबे, हर्ष कुमार, पंकज कुमार और राजेश सिंह शामिल थे । कर्नलगंज पुलिस स्टेशन में भारतीय संहिता की धारा 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाने की सजा) और 506 (आपराधिक धमकी के लिए सजा) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी ।
डी. सी. लाल ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि यह घटना शुक्रवार को मध्ययुगीन तथा आधुनिक इतिहास विभाग में इलाहाबाद विश्वविद्यालय शिक्षक संघ की एक बैठक के दौरान हुई।अपनी शिकायत में लाल ने पुलिस को बताया था कि जब मैंने उक्त चुनाव के लिए शिक्षक संघ और रिटर्निंग अधिकारी के चुनाव कराने का मुद्दा उठाया, तब संकाय के इन चारों सदस्यों ने मुझे गाली देना शुरू कर दिया। वे मेरे खिलाफ टिप्पणियां करने लगे और मेरे संग हाथापाई भी की। इसके बाद उन्होंने मेरा कॉलर पकड़कर मुझे कमरे में से धक्के मारकर निकाल दिया ।

Check Also

Australian Veterans cricket team will be at Semmancheri

CUTS-South Asia:Bolstering India -Australia Defence Relations.On 21st February,2024 at 8.30am.YouTube Streaming or Scan the QR ...