Home / Slider / लखनऊ पुलिस ने थपथपाई अपनी पीठ

लखनऊ पुलिस ने थपथपाई अपनी पीठ

*वर्ष 2018- लखनऊ पुलिस में पहली बार हुए सुधार संबंधी अनूठे प्रयोग*

*बेहतर पुलिस मैनेजमेंट से कानून व्यवस्था से लेकर यातायात व्यवस्था को बनाया बेहतर

*दिन रात की कड़ी मेहनत लाई रंग
*बेहतर व कारगर अभियानों से लखनऊ को बनाया सुरक्षित जोन*

बीते वर्ष में अपनी उपलब्धियों पर खुद अपनी पीठ थपथपाते हुए दावा किया है अगले वर्ष पुलिस और भी बेहतर काम करेगी। लखनऊ के एस एस पी कलानिधि नैथानी ने अपनी रणनीति को बिन्दुसार उजागर करते हुए बताया कि किस तरह से उन्होंने पार्टी पर उतरी व्यवस्था को सुधारने का काम किया।

पहली बार पुलिस सुधार को चार वर्गों में
*1-यातायात (ट्रैफिक व्यवस्था)*
*2-अपराध (क्राइम)*
*3-जनसुविधा*
*4-क़ानून व्यवस्था*
प्राथमिकतााओं को चार भागों में विभाजित कर अनूठे व अभूतपूर्व कार्य किये और राजधानी की यातायात व्यवस्था को सुगम व सुदृढ़ बनाने में No Helmet No petrol (हेलमेट नही तो पेट्रोल नही) से 2017 के अंत मे शुरुआत हुई और सुरक्षा की दृष्टि से ऑटो रिक्शा व टैम्पो पर *4 डिजिट का सिक्योरिटी नम्बर (पुलिस कलर)* लगाए गये, *(विशेषतौर पर महिलाओं व बच्चों के प्रति होने वाले अपराध)* ,किसी भी ऑटो रिक्शा की पहचान सिर्फ सिक्योरिटी नम्बर के आधार पर की जा सके, जिसको जनता द्वारा सराहा गया। इसके साथ ही साथ *नो ठेला, नो रेडा इन हजरतगंज, गोमती नगर, विभूतिखंड* व जाम मुक्त यातायात लखनऊ की सकारात्मक पहल की गयीं।

सड़कों पर उतरकर *हजरतगंज, गोमती नगर, विभूतिखंड* के मुख्य मार्गों/प्रमुख चौराहों पर अनाधिकृत रूप से लगे अतिक्रमण से मुक्त कराया व *10 प्रमुख मार्गों पर ई-रिक्शा का संचालन प्रतिबंधित किया गया*

साथ ही एसएसपी लखनऊ द्वारा राजधानी में अपराध नियन्त्रण हेतु *एंटी क्राइम हेल्प लाइन 7839861314* का गठन किया जिससे गली मोहल्ले में होने वाले अपराधों पर अंकुश लगाया गया जिसको जनता द्वारा प्रयोग किया गया।
लखनऊ पुलिस द्वारा पर्यटकों की सुविधा को देखते हुए टूरिस्ट पुलिस मोबाइल में *2 टूरिस्ट पुलिस मोबाइल* का गठन किया गया। *खोया-पाया सेल* का गठन, *पासपोर्ट वेरिफिकेशन व अन्य वेरिफिकेशन* के लिए एक अलग *एकल विंडो* जैसे कार्यक्रम चलाए।
लोकसभा चुनाव 2019 को सकुशल निपटाया, जिसमे *चुनाव हेल्प लाइन नंबर 9454405156* जारी किया गया, जो निष्पक्ष चुनाव कराने में काफी कारगर और प्रभावशाली रहे।
*राजधानी की अनेकों महत्वपूर्ण एवं सनसनीखेज प्रकरणों का सफल अनावरण* करते हुए लखनऊ पुलिस की क्राइम ब्रांच को अत्यधिक मजबूत बनाया गया, *थानों की साफ सफाई एवं रखरखाव में कई गुना बढ़ोतरी* हुई थानों से अनावश्यक वाहनों को एकीकृत वॉर्ड यार्ड स्थापित कर हटाया।


*अपराधों में ( हत्या डकैती लूट चोरी) में 50% से अधिक गिरावट आई* एवं स्नेचिंग की घटनाओं में भी भारी कमी आई बेहतर जनसुनवाई व्यापक विवेचना निस्तारण से जनता को सीधे लाभ मिला। *बीट सिस्टम* की स्थापना की गई एवं पुलिसकर्मियों के अनुशासन पर विशेष ध्यान दिया गया जिन्होंने गलत किया उन पर पारदर्शी कार्रवाई की गयीं।
लखनऊ में विभिन्न वीवीआइपी प्रोग्राम सकुशल संपन्न कराया, विशेषकर मोहर्रम, इन्वेस्टर समिटि, माननीय प्रधानमंत्री का आगमन, लोकसभा चुनाव 2019, भारत वेस्टइंडीज का मैच व ऑल इंडिया पुलिस साइंस कांग्रेस व ऑल इंडिया पुलिस ड्यूटी मीट का सफल आयोजन हुआ, सभी शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुए । साथ ही पुलिस लाइन में लगभग 100 कार्यक्रम,प्रेसिडेंट, वाइस प्रेसिडेंट,पीएम व अन्य *वीवीआईपी महानुभावों के 600 से अधिक कार्यक्रम,विभिन्न संगठनों के 350 कार्यक्रम/प्रदर्शन व त्योहार आदि बृहद कार्यक्रम 150 सहित लगभग 1200 कार्यक्रम को सकुशल एवं शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराया गया जिसमे महमहिंम राष्ट्रपति महोदय की 1, मा0 उपराष्ट्रपति की 2 एवं मा0प्रधानमंत्री की 3 विजिट में बंदोबस्त का मौका मिला है*।

स्कूलों कॉलेजों आदि में महिला सुरक्षा से लेकर ट्रैफिक तक की क्लासेस लगाई गई महिला संबंधी अपराध एवं एससी एसटी के विरुद्ध अपराधों में कमी आई कुछ अभियान जैसे हेलमेट का अभियान विशेषकर सफल रहा वह सड़क पर लोग अब पहले से ज्यादा अनुशासित हैं।

पुलिस कर्मियों का कल्याण के लिए हेल्पलाइन जारी कर उनकी समस्याओं का निदान किया गया पुलिस लाइन में मैं भी वृहद निर्माण कार्य आदि हुए जिसमें नए पार्क से लेकर *परेड ग्राउंड के सेड व ढाई सौ लोगों की बहुमंजिला बैरिक भी शामिल है*
राजधानी में अपराध क्षेत्र में बड़े-बड़े व्यापक अभियान चलाते हुए
*वर्ष 2019 में जनपद लखनऊ में आपराधिक घटनाओं में आई भारी कमी* जनपद लखनऊ में अपराध एवं अपराधियों पर नकेल कसने हेतु मातहतों को समय-समय पर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गये थे, जिससे जनपद लखनऊ में आपराधिक घटनाओं में कमी आयी। जैसे
*2017 में डकैती की 21 घटनाये थी जो 2019 में घटकर 04 हो गयी, इस प्रकार डकैती की घटनाओं में 81% की कमी हुयी*,
*2017 में लूट की 143 घटनाये थी जो 2019 में घटकर 52 रह गयी, इस प्रकार लूट की घटनाओं में 64% की कमी हुयी*,
*2017 में हत्या की 185 घटनाये थी जो 2019 में घटकर 145 रह गयी, इस प्रकार हत्या की घटनाओं में 22% की कमी हुयी।

*2017 में वाहन चोरी की 4950 घटनाये थी जो 2019 में घटकर 3272 हो गयी, इस प्रकार वाहन चोरी की घटनाओं में 34% की कमी हुयी,
2017 में चोरी की 7310 घटनाये थी जो 2019 में घटकर 5121 रह गयी, इस प्रकार चोरी की घटनाओं में 30% की कमी हुयी*।
साथ ही फिरौती और अपहरण की घटनाओं में 100% की कमी आयी है तथा महिला सम्बन्धी अपराधों के मामलों में कुल 34% कमी आयी है*।

अपराध पर नियंत्रण करने के साथ ही साथ *जनहित में कई अन्य कार्य भी किए गए* जैसे *शहर के प्रमुख चौराहों पर आई0टी0एम0एस0 सिस्टम को लागू कराया, जिससे शहर की जनता को जाम से निजात मिली* साथ ही साथ सभी पुलिसकर्मियों को निर्देशित किया कि जनसुनवाई पर विशेष ध्यान देते हुए जनता से अच्छा व्यवहार करें, जिसके *फलस्वरूप सभी पुलिस कार्यालय और थानों में जनसुनवाई बेहतर हुयी।* स्ट्रीट क्राइम पर नकेल कसने हेतु एसएसपी लखनऊ द्वारा जनहित में *एंटी क्राइम हेल्पलाइन नंबर 7839861314 जारी किया गया था जिस पर जनता के व्यक्तियों द्वारा गोपनीय रूप से सूचना दी गई जिससे स्ट्रीट क्राइम में कमी आयी।*
*गरीबों जिनकी जमीने आदि हड़प कर अत्याचार होता है* ऐसे लोगों के लिए विशेष रूप से *ऑपरेशन 420* चलाया गया था कि कोई नौकरी के नाम पर ,जमीन के नाम पर या किसी अन्य बात पर गरीब लोगों को न ठग सके *ऑपरेशन 420 में 3 माह के अंदर ही लगभग 600* अपराधियों को गिरफ्तार किया जा चुका है
एसएसपी लखनऊ द्वारा *पुलिस कर्मचारियों के हित* को ध्यान में रखते हुए भी कई सराहनीय कार्य किए गये, जैसे *पुलिस लाइन में नयी बैरकों का निर्माण कराया गया,बच्चों के खेलने के लिये पार्क बनवाया गया, पुलिस लाइन का सौंदर्यीकरण कराया गया तथा थानों पर अनावश्यक स्थान घेरने वाले वाहनों का एकीकृत वाहन यार्ड में शिफ्ट कराया गया,थानो की मदम्मरसाथी ही पुलिस कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान के लिए पुलिस हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया।*

पुलिसिंग के स्तर को सुधारने के लिए भी *लखनऊ में *बीट पुलिसिंग पर अधिक बल दिया गया* तथा *बीटो की संख्या बढ़ाकर करीब 10 गुना कर दी गयी,* जिससे अपराधों पर नकेल कसने में सफलता मिली।

*‼2020 हेतु कार्ययोजना*‼

*पुलिस का आधुनिकीकरण*
*पुलिस की ट्रेनिंग*
*जनता से बेहतर संवाद*
*विवेचना में गुणवत्ता- साइबर क्राइम पर प्रहार*
*सेफ सिटी प्रोजेक्ट का क्रियान्वयन* विशेषकर महिला सुरक्षा के संबंध में जिसमें शेफ़ सिटी कंट्रोल रूम की स्थापना और पिंक बूथ की स्थापना शामिल है 100 से अधिक पिंक बूथ एवं 15 सौ से अधिक कैमरे

*पुलिस स्पेशलाइजेशन* विशेषकर टेक्टीकल ऑपरेशंस हेतु एसटीएफ और एटीएस की तर्ज पर‼

Check Also

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 3 करोड़ घरों के निर्माण कराएगी सरकार

सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के तहत 3 करोड़ ग्रामीण और शहरी घरों के निर्माण ...