Home / Slider / “सेवा भाव आठों प्रहर का संकल्प है”: प्रो. जयंत कुमार त्रिपाठी

“सेवा भाव आठों प्रहर का संकल्प है”: प्रो. जयंत कुमार त्रिपाठी

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के विज्ञान संकाय परिसर में आयोजित स्वच्छता पखवाड़ा के अवसर पर एक वृहद हस्ताक्षर अभियान चलाया गया जिसमें छात्रों ने पोस्टर पर अंकित शपथ को पढ़कर उसके अनुपालन हेतु हस्ताक्षर कर अपनी सहमति दी। 

इस अवसर पर आयोजित संगोष्ठी की अध्यक्षता कर रहे, इलाहाबाद विश्वविद्यालय के विज्ञान संकाय के अधिष्ठाता, प्रो. बेचन शर्मा ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान आज हम सबके के लिए महत्वपूर्ण बन गया है। हमें स्वच्छ भारत के लिए सेंसिटिव होना होगा। हमें जहां चाहे गंदगी करने का अधिकार नहीं है। हमें सुनियोजित कचरा प्रबंधन अपनाना चाहिए।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में बोलते हुए विज्ञान संकाय के प्रो. जयंत कुमार त्रिपाठी ने कहा कि सेवा भाव आठों प्रहर का संकल्प है। हमें आपस में मिलकर टीम भावना के साथ सेवा भाव में रत होना चाहिए। मनुष्य प्रकृति से ही स्वच्छता प्रेमी है, प्रकृति ने हमारा निर्माण स्वच्छता भाव बोध के साथ किया है। इसी से हम न केवल बीमारियों से बचते हैं बल्कि जड़ और चेतन प्रकृति को भी बचाते हैं। हमें जागरूक विद्यार्थी और शिक्षक के रूप में इस स्वच्छता का प्रशिक्षण अन्य लोगों को भी देना चाहिए।

राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम समन्वयक डॉ. राजेश कुमार गर्ग ने कहा कि देश का स्वच्छता संकल्प धीरे धीरे रंग ला रहा है और आज हम स्वच्छ भारत की दिशा में निरंतर आगे बढ़ रहे हैं।

संगोष्ठी का संचालन कार्यक्रम अधिकारी डॉ. रविंद्र प्रताप सिंह जी ने किया जबकि अतिथियों का परिचय डॉ. अवनीश कुमार चतुर्वेदी जी ने किया। डॉ. ज्ञानचंद्र सिंह यादव, डॉ अभय प्रताप पांडेय और डॉ. प्रमोद कटारा जी ने स्वयंसेवकों को 24 घंटे स्वच्छता भावबोध के साथ जीने के लिए प्रेरित किया।

Check Also

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 3 करोड़ घरों के निर्माण कराएगी सरकार

सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के तहत 3 करोड़ ग्रामीण और शहरी घरों के निर्माण ...